Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

गोरखपुर एम्स में नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगारों से की ठगी


एम्स में नौकरी दिलाने के नाम पर बेरोजगारों से ठगी की कोशिश का मामला प्रकाश में आया है। बेरोजगारों को झांसे में लेने के लिए जालसाजों ने एम्स के नाम से फर्जी वेबसाइट बनाकर 26 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन मांगा है। इस बारे में जानकारी मिलने पर एम्स की मीडिया कोआर्डिनेशन टीम के प्रभारी प्रो.हरिशंकर जोशी ने जिलाधिकारी और एसएसपी को पत्र लिखकर मामले की शिकायत की है। साथ ही एम्स में फिलहाल किसी भी तरह की भर्ती प्रक्रिया संचालित होने से इन्कार किया है।


इन पदों के लिए निकाला था विज्ञापन


जालसाजों ने फर्जी वेबसाइट पर सीनियर स्टोर कीपर के छह और स्टोर कीपर के 20 पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू होने की सूचना दी है। बेरोजगारों से इन पदों पर भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन मांगा है। फर्जी वेबसाइट पर आवेदन का प्रोफार्मा भी दिया गया है। एम्स के नाम से बनी फर्जी वेबसाइट के साथ ही गवर्नमेंट जॉब्स नाम की वेबसाइट पर भी एम्स में भर्ती के लिए आवेदन पत्र का प्रोफार्मा अपलोड किया गया है। साक्षात्कार के जरिये इन पदों पर भर्ती किए जाने की बात कही गई है। हालांकि इन पदों के आवेदन की अंतिम तिथि तीन फरवरी दी गई है। एम्स प्रशासन को इसकी जानकारी अब हुई है।


एम्‍स प्रशासन ने डीएम, एसएसपी को लिखा पत्र


एम्स की मीडिया कोआर्डिनेशन टीम के प्रभारी प्रो.हरिशंकर जोशी ने बताया कि एम्स की तरफ से इस तरह का न तो कोई आवेदन मांगा गया है और न ही कोई भर्ती प्रक्रिया चल रही है। उन्होंने बताया कि एम्स प्रशासन की ओर से कोई भी सूचना या जानकारी आधिकारिक वेबसाइट ttps://aiimsgorakhpur.edu.in पर ही दी जाती है। उन्होंने अन्य किसी भी माध्यम से एम्स के संबंध में कोई सूचना या जानकारी पर यकीन न करने की अपील की है।