Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

चेहल्लुम पर नहीं निकलेगा जुलूस और न हीं होगा कर्बला पर सामूहिक लंगर

चेहल्लुम पर नहीं निकलेगा जुलूस और न हीं होगा कर्बला पर सामूहिक लंगर


श्रावस्ती: जनपद मुख्यालय भिनगा सहित अन्य कस्बे व गाँवो में हजरत इमाम हुसैन का चेहल्लुम आज गुरुवार को मनाया जाएगा। इस मौके पर निकलने वाले अलम जुलूस को मुस्लिमों ने न निकालने का फैसला लिया है। कोरोना काल को देखते हुए कर्बला में सामूहिक लंगर का भी आयोजन नहीं किया जाएगा। अकीदतमंद कर्बला पहुंचकर फातिहा आदि कर सकेंगे। कोरोना का साया अब चेहल्लुम पर भी पड़ता दिख रहा है। इस मौके पर अलम जुलूस नहीं दिखाई देगा। अजाखानों और घरों में मजलिसें और नजर न्याज के साथ फातिहा की जा सकेगी।


कोरोना काल को देखते हुए मुसलमानों ने फैसला किया है कि इस बार अलम जुलूस नहीं निकालेंगे। इस सन्दर्भ में हवाला दिया है कि संक्रमण का खतरा अभी भी बना हुआ है। इसी को देखते हुए जुलूस न निकालने का फैसला किया गया है। नासिरगंज हुसैनिया इमामबाड़ा के सरपरस्त अम्मार रिजवी ने बताया कि गुरुवार को चेहल्लुम मनाया जा रहा है। मगर लॉकडाउन खत्म होने के बाद सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक आयोजनों में एक सैकड़ा लोगों के शामिल होने की इजाजत शासन स्तर से दी गई है। लेकिन जिला स्तर से अभी कोई गाइडलाइन जारी नहीं की गई है। इसलिए वह जुलूस को नहीं निकालेंगे, सादगी के साथ चेहल्लुम मनाया जाएगा। कर्बला में पहुंचकर नजर, न्याज के साथ फातिहा का दौर जारी रहेगा। संक्रमण को देखते हुए यहां पर आयोजित होने वाले सामूहिक लंगर पर भी रोक लगा दी गई है। घरों में मजलिसे आयोजित की जाएंगी। मालूम हो कि चेहल्लुम पर अलम जुलूस निकाला जाता है जिसमें बड़ी संख्या में अकीदतमंद शामिल होते हैं।