Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायत शेषनपुर के गोवंश आश्रय स्थल का किया गया आकस्मिक निरीक्षण, दिए आवश्यक दिशा-निर्देश 


गोबर से वर्मी कम्पोस्ट बनाकर जैविक खाद तैयार कर गोशाला को स्वावलम्बी बनायें-डीएम


 सुलतानपुर: जिलाधिकारी रवीश गुप्ता ने अस्थायी गोवंश आश्रय स्थल शेषनपुर, विकास खण्ड खण्ड प्रतापपुर कमैचा का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान कुल 63 गोवंश संरक्षित पाये गये, जिसमें 26 नर एवं 37 मादा है। पशु चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि संरक्षित समस्त गोवंश का टीकाकरण, टैगिंग करा दिया गया है। उनके द्वारा यह भी बताया गया कि प्रतिदिन आश्रय स्थल निरीक्षण/सत्यापन किया जा रहा है तथा आवश्यकतानुसार चिकित्सा आदि की जा रही है। 


             जिलाधिकारी ने अपने निरीक्षण के दौरान बाउण्ड्रीवाल के चारों एंगिल लगाकर घेराबन्दी कराने का निर्देश खण्ड विकास अधिकारी प्रतापपुर कमैचा को दिया, जिससे संरक्षित गोवंश बाहर न निकल सकें। उन्होंने साफ-सफाई एवं संरक्षित गोवंश के गोबर को वर्मी कम्पोस्ट बनाकर जैविक खाद तैयार कराकर गोशाला को स्वावलम्बी बनाने का निर्देश दिया। उन्होंने निर्देशित किया कि गोवंश आश्रय स्थल पर भूसा गोदाम का निर्माण कराने कराया जाय। डीएम ने पशु चिकित्साधिकारी को दैनिक सत्यापन/ निरीक्षण कर आवश्यक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी अतुल वत्स, मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ0 रमा शंकर सिंह, उप जिलाधिकारी लम्भुआ राम अवतार, संचालक, ग्राम पंचायत व सचिव उपस्थित रहे।