Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

कलावती नर्सिंग इंस्टीट्यूट में महिला तथा बच्चों की सुरक्षा, नारी सम्मान एवं स्वावलम्बन विषय पर आयोजित हुआ कार्यक्रम


साइबर सुरक्षा के प्रति जागरूकता, बाल विवाह एवं लैंगिक हिंसा की रोकथाम, सहायता, पुनर्वास तथा बाल विवाह करने,कराने पर दण्ड का प्राविधान व महिलाओं की आत्म रक्षा के उपायों पर परिचर्चा एवं प्रषिक्षण का आयोजन।


कासगंजः उ0प्र0 सरकार द्वारा महिलाओं व बालिकाओं में सुरक्षा, सम्मान एवं स्वावलम्बन की भावना विकसित करने तथा समाज में नारी सम्मान के प्रति सामाजिक विचार, व्यवहार में परिवर्तन लाने के उद्देष्य से पूरे प्रदेष में मिषन शक्ति अभियान संचालित है। जिसके अंतर्गत जिलाधिकारी चन्द्रप्रकाष सिंह के दिषा निर्देषन, नोडल अधिकारी डा0 मीनाक्षी कात्यायन के पर्यवेक्षण एवं पुलिस विभाग, जिला प्रोबेषन, जिला कार्यक्रम, स्वास्थ्य, ग्राम पंचायतराज, षिक्षा एवं अन्य सम्बन्धित विभागों के सहयोग से जनपद में प्रतिदिन जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है।


       महिला सषक्तिकरण अभियान के आज 5वें दिन कलावती नर्सिंग एण्ड पैरामेडीकल इंस्टीट्यूट कासगंज में मिषन शक्ति अभियान के अंतर्गत जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसके अतिरिक्त जनपद के विभिन्न विद्यालयों में जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन हुआ। मिशन शक्ति अभियान के अन्तर्गत एण्टीरोमियो दल/महिला थाना प्रभारी व महिला उप निरीक्षकों के नेतृत्व में प्रत्येक थाना क्षेत्र के सभी प्रमुख स्कूलों में जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। दूरदराज के ग्रामीण क्षेत्रों थाना सिकन्दरपुर वैष्य, ग्राम रनैठी, थाना सुन्नगढ़ी क्षेत्र कें ग्राम बमनपुरा, नगला चैके सहित विभिन्न स्थानों पर आयोजित कार्यक्रमों में सम्बन्धित थाने के पुलिस कर्मी, छात्रायें व षिक्षकगण उपस्थित रहे। नुक्कड़ नाटकों के माध्यम से जनजागरूकता अभियान चलाया गया।


        महिला तथा बच्चों की सुरक्षा, नारी सम्मान एवं स्वावलम्बन, साइबर सुरक्षा के प्रति जागरूकता, बाल विवाह एवं लैंगिक हिंसा की रोकथाम, सहायता, पुनर्वास तथा बाल विवाह करने, कराने पर दण्ड का प्राविधान व महिलाओं की आत्म रक्षा-सेल्फ डिफेंस के उपायों पर परिचर्चा एवं प्रषिक्षण का आयोजन किया गया। जागरूकता कार्यक्रमों में महिलाओ व बच्चों के प्रति हिंसा व अपराधो की रोकथाम से संबंधित कानूनो, सहयोगी हेल्पलाईन 1076, 181, 1090, 1098, 112, 108 तथा 102, वन स्टाॅप सेन्टर, बाल संरक्षण सेवा के विषय में जानकारी दी गयी।