Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

मौन व्रत पर बैठे समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता, हाथरस कांड और किसान कानून का कर रहे विरोध

मेरठ: मेरठ में गांधी जयंती के अवसर पर कमिश्नरी पार्क में समाजवादी पार्टी के सैकड़ों कार्यकर्ताओ मौन व्रत सत्याग्रह पर बैठे ।उनका कहना है कि केंद्र सरकार जिस तरीके से किसानों के लिए कानून लेकर आई है वह पूरी तरह से किसान विरोधी है और हाथरस में जिस तरह से एक बेटी के साथ बर्बरता हुई है, उसको लेकर यह साफ हो जाता है कि प्रदेश में बहन बेटियां सुरक्षित नहीं है. इसलिए समाजवादी कार्यकर्ता ग़ांधी जयंती पर गांधी के पदचिन्हों पर चलकर सत्याग्रह किया।


 पार्टी आज पूरे प्रदेश में मौन व्रत सत्याग्रह कर रही है, ताकि इन सरकार को पता चल सके समाजवादी पार्टी इन की नीतियों का विरोध करती रहेगी.


उनका आज का मौन व्रत सत्याग्रह हाथरस में हुई बेटी के साथ हैवानियत और केंद्र सरकार द्वारा लाए गए कृषि कानून के विरोध में है. समाजवादी पार्टी के नेताओं का कहना है कि जहां कृषि कानून किसान विरोधी है, वहीं हाथरस की घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है और ये बताया है कि प्रदेश में बहन बेटियां कितनी सुरक्षित हैं.


जिला अध्यक्ष राजपाल सिंह एडवोकेट की अध्यक्षता में यह मौन व्रत सत्याग्रह सुबह 11:00 बजे शुरू हुआ। साथ ही दोपहर 1:00 बजे तक चला।


सत्याग्रह में पूर्व विधायक व पूर्व कैबिनेट मंत्री शाहिद मंजूर, पूर्व विधायक गुलाम मोहम्मद,पूर्व विधायक प्रभुदयाल वाल्मीकि सपा नेता अतुल प्रधान, संजीव यादव, संजीव गुप्ता, अनीता पुंडीर, आदिल चौधरी, ओमपाल गुर्जर समेत सैकड़ों नेता व कार्यकर्ता मुख्य रूप से मौजूद रहे। इससे पूर्व सपा नेताओं ने चौधरी चरण सिंह पार्क में लगाए गए अपने होर्डिंग व बैनर फाड़ने का आरोप लगाया साथ ही एसएसपी से लिखित में शिकायत भी की।