Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

समाजवादी पार्टी के पदाधिकारियों एवं भारी सख्यां में कार्यकरताओं ने रोड से विरोध प्रर्दशन करते हुए तहसील पहुंच कर उपजिलाधिकारी को सौपा ज्ञापन

मोहम्मदी-खीरी:जब किसी भी प्रकार का अहंकार दिमाग पर चढ जाता है तो इन्सान विशेष रूप से दबे, कुचले, गरीब, दलित आदि उसे कीड़े-मकौड़े दिखने लगते है। मथुरा की बिटिया को इन्साफ नहीं दिया, तडप रही थी तब इलाज नहीं दिया, मर गयी तो इज्जत से विदा नहीं होने दिया। बाप को बंधक बनाकर सहमति लिखाई बेटी का गम भी मनाने नहीं दिया। अब बूटो की धमक से गांव को दहला रहे है। मथुरा एवं आजमगढ की बिटिया को इसांफ दिलाने के लिये पहले उत्तर प्रदेशीय सफाई कर्मचारी संद्य शाखा मोहम्मदी प्रदर्शन कर देश के राष्ट्रपति को सम्बोधित एक पांच सूत्री ज्ञापन दिया। तुरन्त बाद मोहम्मदी विधानभा क्षेत्र के समाजवादी पार्टी के पदाधिकारियों एवं भारी सख्यां में कार्यकरताओं ने गुलौली रोड से विरोध प्रर्दशन करते हुए तहसील पहुंच कर उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा। 


मथुरा की बिटिया के साथ दबंगों ने जो कत्य किया उसे निर्भया कांड को भी पीछे छोड़ दिया। दबंगो की वासना एवं क्रूरता की भेट चढ़ी बिटिया व उसके परिवार के साथ पुलिस प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग ने जो किया उसने और शर्मसार किया। हाथरस कांड को लेकर आज नगर में बाल्मीकि समाज ने जमकर विरोध प्रर्दशन किया। मनीषा को न्याय दिलाने के लिये आज भारी सख्ंया में बाल्मीकि समाज के लोग उत्तर प्रदेश सफाई कर्मचारी संद्य के बैनर तले एकत्र होकर सरकार विरोधी नारे लगाते हुए और चारो दोषी संदीप ठाकुर, रामू ठाकुर, लवकुश ठाकुर तथा रवी ठाकुर को फांसी दो के नारे बुलन्द करते हुए तहसील पहुंचे और राष्ट्रपति को सम्बोधित एक पांच सूत्री ज्ञापन उपजिलाधिकारी स्वाति शुक्ला को सौपकर मांग की है कि मनीषा के हत्यारे बलात्कारियो को फांसी की सजा हो, बिटिया के परिवार को एक करोड़ की आर्थिक सहायता दी जाये, बिटिया के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दी जाये, पीड़ित परिवार की सुरक्षा की गारन्टी दी जाये साथ ही सरकारी तंत्र न्याय व्यवस्था की मांग की गयी कि मथुरा की बिटिया को फास्टट्रेक कोर्ट के माध्यम से जल्द से जल्द न्याय दिया जाये। ज्ञापन पर प्रदीप कुमार, श्रीकृष्ण, रवि कुमार, हीरालाल, अशोक कुमार, आशीष कुमार सहित नगर इकाई के अध्यक्ष सुजीत कुमार बाल्मीकि ने हस्ताक्षर किये थे।


 मथुरा की बिटिया को लेकर बाल्मीकि समाज का प्रर्दशन अभी खत्म भी नहीं हुआ था कि भारी संख्या में समाजवादी सड़क पर हाथो में तख्तिया एवं बैनर लिये सरकार विरोधी नारे लगाते हुए ध्वस्त कानून व्यवस्था को कोसते हुए गुलौली रोड से होते हुए तालिब अली चैराहा, तालिब अली चैराहा, हनुमान मन्दिर होते हुए तहसील गेट से उप जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे, जहाँ उप जिलाधिकारी को ज्ञापन दिया। समाजवादी कार्यकर्ता हाथों में झण्ड,े तख्तियां और बैनर लिए हुए थे तथा समाजवादी पार्टी जिन्दाबाद, योगी सरकार मुर्दाबाद, महिलाओं और बच्चों पर अपराध बन्द करो बन्द करो के नारे लगा रहे थे सभी ने मांग की सभी हत्यारों को फांसी और बिटिया के परिजनों को आर्थिक मदद देने के साथ-साथ इसकी सीबीआई जांच कराई जाए। पूर्व जिला उपाध्यक्ष कान्ति कुमार सिंह ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि हाथरस की बेटी के साथ हुए बलात्कार और हत्या के मामले में राज्य सरकार और उसकी पुलिस प्रशासन पूरी तरह से कटघरे में है। अपराधियों और बलात्कारियों को बचाने का काम किया जा रहा है इसलिए इस घटना की न्यायिक जांच माननीय उच्च न्यायालय के न्यायाधीश से करा कर बलात्कार, हत्या के दोषियों के साथ उनको बचाने वाले सत्ता और पुलिस अधिकारियों को भी दण्डित किया जाए। विधानसभा अध्यक्ष दिलीप यादव ने कहा कि भाजपा का बेटी बचाओ का नारा फेल हो चुका है देश व प्रदेश में दुष्कर्म और हत्या आम बात हो गई है कानून व्यवस्था चैपट हो गई है बच्चियों का घर से निकलना दुश्वार हो गया तत्काल फास्ट ट्रैक अदालत बनाकर इसकी सुनवाई की जाए। सपा नेता डाक्टर जुबैर खान हाथरस और बलरामपुर जिले में दलित बेटी के साथ बलात्कार हत्या जैसे जघन्य अपराध पर रातो-रात अन्तिम संस्कार करा देना अपराधियों को संरक्षण देने के बराबर है इसकी न्यायिक जांच की जाए। ज्ञापन देने वालों में प्रमुख रूप से मुलायम यूथ ब्रिगेड के प्रदेश सचिव शहबाज अली, नगर अध्यक्ष इकरार खा, बरबर नगर अध्यक्ष मुईद खा, मधुर सिंह, राजन कुमार बाल्मीकि, लक्ष्मण गुप्ता, पूर्व नगर अध्यक्ष सगीर आलम सिद्दीकी, राम सागर यादव, अनुभव यादव, पलविंदर सिंह, शत्रोहन सिंह, राम प्रकाश एडवोकेट, अब्बास नकबी, मोहम्मद इलियास, अशफाक मन्सूरी, साबिर मन्सूरी, सच्चिदानंद राय, रियाजुल गाजी, अबरार मंसूरी, सहित भारी संख्या में समाजवादी पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे।