Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

तो एफआईआर में नामजद आरोपियों ने नहीं की थी रमफेरन की हत्या


पुलिस की जांच में उदयराज और अजय हैं रामफेरन के हत्यारे


जड़ी बूटी लेने जंगल गए व्यक्ति की लाश मिलने का मामला


श्रावस्ती। जड़ी बूटी की तलाश में जंगल गए युवक का संदिग्ध परिस्थितियों में शव मिलने का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। आपको बता दें कि थाना कोतवाली भिनगा क्षेत्रान्तर्गत ग्राम हरिहरपुररानी निवासी रामफेरन पुत्र बदल पासवान (50वर्ष) जो 28 सितम्बर को अपने घर से भिनगा जंगल में जड़ी बूटी लेने गया हुआ था। जिसकी तीस सितम्बर को भिनगा जंगल के अंटा तिराहा स्थित जंगल में संदिग्ध परिस्थितियों में शव मिला था। उक्त घटना में पुलिस ने कार्यवाही करते हुए थाना कोतवाली भिनगा पर मुअसं 290/2020 धारा 302, 201 भादवि के तहत गांव के हीं रामछबीले, चिन्ताराम पुत्रगण धरखन तथा अवधराम पुत्र रामछबीले के विरुद्ध अभियोग पंजीकृत किया गया था। जिसमें पुलिस अधीक्षक अरविन्द कुमार मौर्य द्वारा साक्ष्य संकलन कर गुणवत्ता पूर्ण विवेचना करने व अपराधियों की तत्काल गिरफ्तारी हेतु प्रभारी निरीक्षक कोतवाली भिनगा दवेन्द्र पाण्डेय को निर्देशित किया गया था। जिसमें प्रभारी निरीक्षक कोतवाली भिनगा द्वारा साक्ष्य संकलित करते हुए उपरोक्त नामित अभियुक्तों की नामजदगी गलत पायी गयी तथा विवेचना के दौरान प्रकाश में आये अभियुक्त उदयराज पुत्र रामरुप यादव तथा अजय कुमार उर्फ रामनिवास पुत्र रामफेरन निवासी हरिहरपुर रानी थाना कोतवाली भिनगा जनपद श्रावस्ती को मुखबिर की सूचना पर रविवार को हरिहरपुर रानी के सिसवा मोड़ से गिरफ्तार कर कड़ाई पूर्वक पूछ-तांछ शुरु की। जिसमें उदयराज तथा अजय कुमार ने गला दबाकर हत्या करने की बात स्वीकार किया। जिनके निशानदेही पर पुलिस ने घटना में प्रयुक्त साईकिल, गमछा, खुरपी व पैण्ट बरामद कर लिया है। मामला खुलने के बाद पुलिस ने उक्त मुकदमा अपराध संख्या में 3(2)5 एससी/एसटी एक्ट बढ़ाते हुए गिरफ्तार अभियुक्तों को न्यायिक अभिरक्षा में जेल रवाना कर दिया है।