Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

गैर संचारी रोगों की रोकथाम के लिए सेवाएं पुनः प्रारम्भ, डायबिटीज़, हाईपर टेंशन व कैंसर की रोकथाम पर है ज़ोर  

 


 प्रयागराज, 19 नवम्बर 2020 - गैर संचारी रोग खासकर डायबिटीज़, हाईपर टेंशन और कैंसर की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से काफी प्रयास किया जा रहा है I इसके अन्तर्गत इन बीमारियों का आंकलन कर रोगों के गंभीर होने से पहले ही उपचार देने हेतु हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर संभावित रोगियों की पहचान की जा रही है I इस कार्य में आशा कार्यकर्ताओं की भी महत्वपूर्ण भूमिका दी गई है I  


मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. (मेजर) जी.एस. बाजपेई ने बताया कि कोविड-19 के चलते हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों (जन आरोग्य केन्द्र) पर कई स्वास्थ्य सेवाएं रुक दी जा रही हैं I इनमे गैर संचारी रोगों खासकर डायबिटीज़, हाईपर टेंशन व कैंसर की स्क्रीनिंग की सुविधा भी दी जा रही है I यदि किसी व्यक्ति में स्क्रीनिंग के दौरान बीमारी के लक्षण दिखते हैं तो उसे बीमारी के आधार पर उचित परामर्श व उपचार दिया जाता है I कोई भी व्यक्ति अपने क्षेत्र के हेल्थ एंड वेलनेस सेंटरों पर जा कर अपनी गैर संचारी रोगों की जाँच करवा सकता है I 


उन्होंने बताया कि आशा कार्यकर्ताओं को ज़िम्मेदारी दी गई है कि वह अपने क्षेत्र में 30 वर्ष से अधिक आयु के लोगों की सूची तैयार कर समुदाय आधारित आंकलन प्रपत्र (सीबैक फॉर्म) भर कर उसके अंकों के आधार पर रोग की संभावना वाले व्यक्तियों को अपने सेंटर पर स्क्रीनिंग के लिए ले जाये और उनकी डायबिटीज़, हाईपर टेंशन व कैंसर की स्क्रीनिंग करवाए I इस कार्य के सापेक्ष आशा को प्रति सीबैक फार्म दस रूपए और चिन्हित मरीज़ के फ़ॉलोअप और छः माह तक मरीज़ के उपचार प्राप्त करने पर हर छः माह पर पचास रूपए के आधार पर 100 रूपए का भुगतान वर्ष में दो किश्तों में होगा I 


जिला सामुदायिक प्रक्रिया प्रबंधक अशफ़ाक अहमद ने बताया कि आयुष्मान भारत योजना के अन्तर्गत हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर (आरोग्य स्वास्थ्य केन्द्र), उपकेन्द्र एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर स्वास्थ्य सम्बंधित विभिन्न सेवाएं निःशुल्क प्रदान की जा रही हैं - 


1. ए.एन.सी. जाँच एवं परामर्श


2. रक्त की जाँच व निःशुल्क आयरन की गोली का वितरण


3. परिवार नियोजन के स्थाई/अस्थाई साधनों की सेवाएं


4. टीकाकरण सेवाएं (सभी निःशुल्क टीकाकरण)


5. गैर संचारी रोगों का परिक्षण व परामर्श


6. रेफरल


7. प्रसव प्रश्चात देखभाल व 422 दिन का विशेष फ़ॉलोअप


8. नवजात शिशु देखभाल एवं जनपदीय चिकित्सालय रेफरल


9. बुज़ुर्गों की देखभाल हेतु परामर्श


10. सुरक्षित गर्भपात हेतु परामर्श व रेफरल


11. ई- कंसल्टेंसी (टेलीमेडिसिन द्वारा स्वास्थ्य परिक्षण सेवाएं)


12. योग अभ्यास / प्रशिक्षण सेवाएं


जनपद में वर्ष 2018-19 में 30 उपकेन्द्र और 16 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र थें जो वर्ष 2019-20 में बढ़कर 111 उपकेन्द्र व 38 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र हो गए I 2020-21 में 258 उपकेन्द्र, 15 और पी.एच.सी. के साथ कुल 53 प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र व वर्ष 2019-20 में 17 शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र थें जो 2020-21 में बढ़ कर 23 हो गए हैं I इन सभी केंद्रों पर स्वास्थ्य सुविधा उपलध किये जाने हेतु कार्य किया जा रहा है I 2022 तक सभी उपकेंद्रों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र तथा नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों यह सुविधा उपलध की जायेगी I