Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाएं धराशाई,अव्यवस्थाओं के बीच संचालित हो रहा रानीसीर का गौशाला


श्रावस्ती। उत्तर प्रदेश सरकार गौ संरक्षण के लिए भले हीं तमाम योजनाएं संचालित कर रही हो, मगर जिले के जमुनहा तहसील क्षेत्र अन्तर्गत एक गौशाला में सरकार द्वारा संचालित सभी योजनाएं धराशाई नजर आते हैं। जिसकी वजह से वहां के गौवंशों को एक-एक पल के जीवन के लिए संघर्ष करना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार जमुनहा तहसील क्षेत्र अन्तर्गत ग्राम पंचायत रानीसीर में 2018-19 में सरकारी योजना अन्तर्गत एक गौशाला का निर्माण कराया गया था। जिसका उद्देश्य था कि क्षेत्र की लावारिश गौवंशों को उक्त सरकारी गौशाला में रखकर उन्हे संरक्षित किया जा सके।


जिनके खानपान रहन सहन के लिए सरकार द्वारा लगातार पर्याप्त धनराशि भी मुहैया कराई जाती है। फिर भी उक्त गौशाला में न तो गायों के रहने की पर्याप्त व्यवस्था है और न हीं खाने के लिए पोषण युक्त हरे चारे की। इस गौशाला के निर्माण के दो वर्ष बाद भी गायों को बांधने के लिये पर्याप्त टीन शेड की व्यवस्था नही हो सकी है। जिसकी वजह से कड़ाके की ठंड में भी गायों को खुले आसमान के नीचे जीवन यापन करना पड़ रहा है। वहीं गायों को भोजन के नाम पर सूखा भूसा दिया जा रहा है। इस सन्दर्भ में गौशाला के एक कर्मचारी ने बताया कि महीने में हमें एक बोरी चोकर मिलता है जिसे कम से कम एक महीने तक चलाना होता है। यहां पर न तो हम लोगों के रहने के लिए कोई मकान है और न हीं समय से हम लोगों को मजदूरी मिलती है। जानकारों की मानें तो इस गौशाला में लापरवाही की वजह से अब तक कई गायों की मौत भी हो चुकी है।