Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

सीएम ने किया कटान निरोधक बाढ़ परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास, एनआईसी के माध्यम से शामिल हुए जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अधिकार

 

सीएम ने किया कटान निरोधक बाढ़ परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास

एनआईसी के माध्यम से शामिल हुए जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अधिकार

खीरी में हुआ 10.23 करोड़ की दो परियोजनाओं का लोकार्पण, 30.73 करोड़ की 09 परियोजनाओं का शिलान्यास

लखीमपुर खीरी:बुधवार को सिंचाई व जल संसाधन विभाग की 146 कटान निरोधक बाढ़ परियोजनाओं का लोकार्पण व स्वीकृत 170 परियोजनाओं का शिलान्यास मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वर्चुअली किया। जिसमें खीरी जिले की 10.23 करोड़ धनराशि की लागत वाली दो परियोजनाओं का लोकार्पण एवं 30.73 करोड़ लागत की 09 परियोजनाओं का शिलान्यास शामिल है।

इस वर्चुअल लोकार्पण व शिलान्यास कार्यक्रम में ज़िला सूचना एवं विज्ञान केंद्र (एनआईसी) के माध्यम से विधायक निघासन शशांक वर्मा, धौरहरा सांसद प्रतिनिधि सुमित तिवारी एवं डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह, मुख्य अभियंता शारदा एसपी सिंह शामिल हुए।

इस वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बाढ़ परियोजनाओं के 146 लोकार्पण एवं 170 शिलान्यास वाले जिलों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने बाढ़ जैसी विभीषिका से निपटने के लिए नए प्रयोग किए और इनके सुखद परिणाम भी सामने आए। नदियों की ड्रेसिंग कर चैनलाइज़ करने की प्रक्रिया अमल में लाई गई। गत 04 वर्षो के दौरान बाढ़ की विभीषिका से जन धन हानि रोकने में ना केवल बड़ी सफलता पाई बल्कि जनता के प्रति जवाबदेही का भी परिचय दिया। सरकार के नेतृत्व में अधिकारियों ने पूरी प्रतिबद्धता के साथ जमीन पर परियोजनाओं को उतारने का काम किया। जनता की पीड़ा को देखते हुए सरकार ने समय से बचाव कार्य प्रारंभ करके उन्हें पूर्ण करते हुए व्यापक तौर पर होने वाली जन धन हानि को रोका है।

बाढ़ की विभीषिका से निपटने में जनप्रतिनिधियों ने रुचि दिखाई। आज शिलान्यास होने वाली परियोजनाओं को गुणवत्ता एवं समयबध्यता के साथ पूर्ण कराए। जनप्रतिनिधि समय-समय पर विजिट करें। स्थानीय स्तर पर हल की जाने वाली बाढ़ की समस्याएं के निदान हेतु जिला प्रशासन कन्वर्जंस के माध्यम से परियोजना बनाकर जिले स्तर पर ही उसका समाधान सुनिश्चित करें। बाढ़ की विभीषिका से निपटने हेतु टेक्नोलॉजी का बेहतर उपयोग किया गया है। परियोजनाएं समय से न केवल समय से बनाई बल्कि लागू होने से पूर्ण होने तक सतत निगरानी बरती। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं के प्रति भय का माहौल समाप्त करें। प्राकृतिक आपदा से बचाकर लोगों को आर्थिक समृद्धि व खुशहाली के रास्ते प्रशस्त करें ताकि वह अपनी पूरी श्रम व शक्ति का उपयोग कर सकें।

इन परियोजनाओं का हुआ लोकार्पण 5.77 करोड़ लागत की शारदा नदी के बाएं किनारे पर स्थित ग्राम समूह राजापुर भज्जा एवं पसियनपुरवा की सुरक्षा हेतु कटाव निरोधक कार्य की परियोजना।

4.46 करोड़ लागत की घाघरा नदी के दाएं किनारे पर स्थित ग्राम समूह कुंजापुरवा, मूलचंद्रपूरवा व बेलागढ़ी की सुरक्षा हेतु कटाव निरोधक कार्य की परियोजना।