Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

इससे तंग आकर मजदूर ने की खुदकुशी, फिर...



बाराबंकी। कर्ज व उधार की रकम में डूबे एक व्यक्ति ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया है। मृतक की पत्नी ने बैंक के कर्मचारियों पर परेशान किये जाने का आरोप लगया है।घटना मोहम्मदपुर खाला थाना क्षेत्र के एंडौरा गांव की है। यहां रहने वाली रीता देवी के मुताबिक पति इन्द्रसेन ने करीब पांच साल पहले सूरतगंज कस्बा स्थित बैंक ऑफ इंडिया से केसीसी के तहत दो लाख रुपये का ऋण ले रखा था। जिसे वह वापस नही कर पा रहा था। जिसके चलते उसे बैंक से नोटिस भेजी जा रही थी। पिछले कुछ दिनों से बैंक के कर्मचारी उसके घर वसूली के लिए चक्कर लगा रहे थे। पैसे न जमा करने पर आरसी जारी करने की चेतावनी दी।आरोप है कि होली से पहले भी बैंक कर्मचारी घर आये थे। इसी वजह से वह काफी मानसिक तनाव में भी था। बुधवार की रात खाने के बाद पति छप्पर के नीचे सो रहा था। पत्नी रीता देवी देवराज, प्रियंका, प्रिंसी व रोहित के साथ सो गई। रात में ही इंद्रसेन ने छप्पर की बल्ली में गमछे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।सुबह पत्नी ने शव देखा। सूचना पाकर पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया। पत्नी रीता देवी ने बताया कि बैंक कर्ज के साथ करीब बीस हजार का और भी उधार था । जिसके चलते वह परेशान रहता था। थोड़ी जमीन म होने के कारण वो मजदूरी भी करता था।