Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

कोरोना संक्रमण काल में इम्युनिटी बढ़ाने वाले फलों के दाम छु रहे आसमान, बढ़ी मुनाफाखोरी



 बहराइच : कोरोना संक्रमण काल में इम्युनिटी बढ़ाने वाले फलों के दाम आसमान छू रहे हैं। मुनाफाखोरी बढ़ने से जेब ढीली हो रही है। लोग दोगुने दाम पर फल की खरीदारी करने को मजबूर हैं। पिछले एक महीने के फलों के भाव पर गौर करें तो इसके भाव में बेतहासा वृद्धि देखने को मिल रही है। अधिकांश फल दोगुने दामों पर बिक रहे हैं। कोरोना के कारण विटामिन सी युक्त फलों के दाम तो दोगुने से भी ज्यादा बढ़ गए हैं। नींबू, संतरा, किवी, के भाव रोज बढ़ रहे हैं। रमपुरवा चौराहे पर फल का ठेला लगाने वाले प्रदीप कहते हैं कि कोरोना संक्रमण से बचाव में खट्टे फल इम्यूनिटी बढ़ाने वाले होते है। उन्होंने बताया कि विभिन्न शहरों में लॉकडाउन के कारण पहले की अपेक्षा फल कम आ रहे है।इससे मंडियों में थोक दुकानदार अपने मनमाफिक पैसा वसूल रहे हैं। फल का ठेला लगाने वाले रमेश मौर्य ने बताया कि पिछले एक महीने में फलों के दाम अधिक बढ़े है। इसके पीछे कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते डिमांड बढ़ना है। भगवानपुर के अवनीश ने बताया कि थोक मंडी से बाहर आते ही ठेला लगाने वाले फलों को दोगुने दाम पर बेच

रहे है। फुटकर विक्रेताओं की इस मनमानी से आम आदमी की जेब पर भार बढ़ गया है।दीपक अवस्थी बताते हैं कि अब विशेषज्ञ चिकित्सक खट्टे फलों को खाने की बात कहतें हैं। दूसरी ओर आसमान छूते भाव से फल आम आदमी की पहुंच से दूर होता जा रहा है। भगवानपुर के भोला बताते हैं कि अब मौसमी जूस 50 से 60 रुपये गिलास हो गया है जबकि एक माह पहले इसका रेट 20 से 30 रुपये तक था। 


गांव कस्बों में फलों की बिक्री


अब--एक माह पहले

 

संतरा 120-60 प्रति किलो


नीबू 160-50 प्रति किलो


केला 70-35 प्रति दर्जन


सेब 200-80 प्रति किलो


किवी 40-25 प्रति पीस


मुसम्मी 90-35 प्रति किलो


अनार 100-70 प्रति किलो


क्या कहते हैं डॉक्टर 

फखरपुर सीएचसी के डॉक्टर विवेक रंजन बताते हैं कि फल इम्युनिटी यानी प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते हैं। यह न सिर्फ बीमारियों से लड़ने में मदद करते हैं बल्कि शरीर को स्वस्थ भी रखते है।फलों में ऐसे तत्व प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं, जो शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने में सहायक हैं।