Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

चुनावी रंजिश व जुलूस पर दो पक्षों के बीच जमकर बवाल, पुलिस की मौजूदगी में चले ईट पत्थर एक पक्ष बैठा धरने पर



चुनावी रंजिश व जुलूस पर दो पक्षों के बीच जमकर बवाल 

पुलिस की मौजूदगी में चले ईट पत्थर एक पक्ष बैठा धरने पर 

मौके पर पहुंची भारी पुलिस बल ने कई लोगों को लिया हिरासत में

रायबरेली। सरकार के लाख दावे के बाद जिला प्रशासन हार जीत की खुशियों को लेकर निकले जुलूसों पर पाबंदी लगाने में नाकाम साबित हो रहा है शायद यही वजह है कि चुनावी रंजिश को लेकर जिले में चारों तरफ मारपीट व बवाल होना शुरू हो गया है। ताज़ा मामला भदोखरर थाना क्षेत्र के पकरा गिरफ्ता गांव आया है जहां चुनावी रंजिश व जीते प्रत्याशी के जुलूस निकालने पर दूसरे पक्ष से कहासुनी हुई और देखते ही देखते कहासुनी बवाल में तब्दील हो गया। सूचना पर पहुंची भारी पुलिस बल ने किसी तरह मामले को शांत कराने का प्रयास किया लेकिन मौजूद गांव की भारी भीड़ के सामने खाकी कुछ ना कर सकी और पुलिस की मौजूदगी में ईंट पत्थर चलने लगे। यही नहीं एक पक्ष के उपद्रवी दूसरे पक्ष की गिरफ्तारी को लेकर धरने पर बैठ गए उनका कहना था कि जब तक पुलिस दूसरे पक्ष को गिरफ्तार नहीं करेगी तब तक वह धरने पर से नहीं उठेंगे फिर क्या था भारी हुजूम के सामने खाकी नतमस्तक हुई और दूसरे पक्ष के घरों में घुसकर कुछ लोगों को हिरासत में लिया बताया तो यह भी जाता है कि पुलिस ने भी जमकर तांडव काटा और पूर्व प्रधान का छप्पर एवं कुर्सियों को तोड़ दिया। घटनाक्रम के मुताबिक पकरा गिरफ्ता गांव में हरिजन सीट होने के चलते पूर्व प्रधान अनिरुद्ध सिंह की समर्थक में शिव सागर प्रधानी चुनाव मैदान में थे इसी बीच अनिरुद्ध सिंह का रुझान दूसरे प्रत्याशी लाखन पासी की तरफ चला गया था। इधर तीसरा प्रत्याशी अयोध्या प्रसाद जिसे शिवनारायण मौर्य और मन्ना मौर्य के समर्थक में खड़ा किया गया था और अयोध्या प्रसाद पासी जीत हासिल कर गया। बताते हैं कि मंगलवार की दोपहर प्रधान अयोध्या प्रसाद पासी अपने कुछ समर्थकों के साथ किसी मंदिर मिठाई चढ़ाने गया था और वह जुलूस लेकर ग्राम प्रधान के दरवाजे से गुजर रहा था इसी बीच निर्वातमान ग्राम प्रधान के कुछ लोगों ने पूर्व प्रधान के लोगों को टांट मार दी जिसे लेकर बवाल हो गया। बवाल की सूचना मिलते ही क्षेत्राधिकारी सदर महिपाल पाठक व प्रभारी थानाध्यक्ष पंकज तिवारी समेत भारी मात्रा में पुलिस बल गांव पहुंची। एकत्र गांव की भव्य भीड़ व जुलूस को पुलिस शांत कराने मेंं जुटी रही लेकिन निवर्तमान ग्राम प्रधान के समर्थक कुछ उपद्रवी तत्वों ने माहौल को खराब करते हुए धरने पर बैठ गए। हालांकि थानाध्यक्ष पंकज तिवारी का कहना है कि जुलूस की बात झूठी है ग्राम प्रधान द्वारा मिठाई बांटी जा रही थी जो पूर्व प्रधान को नागवार गुजरी जिसे लेकर बवाल हुआ है दोनों पक्षों से कई लोगों को हिरासत में लिया जा रहा अग्रिम कार्रवाई की जा रही है