Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

कुशीनगर /खड्डा :अट्ठाइस घण्टे चली नगर पंचायत बोर्ड की बैठक,वरिष्ठ लिपिक निलंबित



खड्डा/कुशीनगर: जाड़े के ठिठुरन में नगर पंचायत खड्डा के बोर्ड की गरमागरम ऐतिहासिक बैठक कल दोपहर 1 बजे प्रारंभ बैठक आज देर सांय तक चली। सूचना के बावजूद चेयरमैन रुखसाना लारी के न आने के कारण वार्ड नं 1 की सभासद इंदु देवी की अध्यक्षता में बैठक सम्पन्न हुई। कुल पंद्रह में से ग्यारह सदस्यों ने सर्वसम्मति से इंदु देवी को अध्यक्ष चुना। बताते चलें कि नगर पंचायत के अधिशासी अधिकारी देवेश मिश्रा ने 27 दिसम्बर को बोर्ड की बैठक की सूचना जारी की थी लेकिन तय तिथि एवं समय पर सभासद जब नगर पंचायत कार्यालय पहुँचे तो अधिशासी अधिकारी, वरिष्ठ लिपिक सहित अन्य कर्मचारी दफ्तर में ताला बंद कर गायब मिले। इस पर आक्रोशित सभासदों ने जिलाधिकारी,अपर जिलाधिकारी, उपजिलाधिकारी सहित अन्य उच्चाधिकारियों को इसकी सूचना दी। मामले को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने अधिशासी अधिकारी को निर्देशित किया इसके पश्चात अधिशासी अधिकारी देवेश मिश्रा कल 4 बजे नगर पंचायत कार्यालय पहुंचे लेकिन वरिष्ठ लिपिक राजेन्द्र गुप्ता के कार्यालय में ताला बंद कर गायब हो जाने के कारण बैठक की कार्यवाही आगे नहीं बढ़ सकी, हालांकि अधिशासी अधिकारी ने चाभी के लिए अपने कर्मी को सिसवा बाजार लिपिक के घर भेजा परन्तु वहाँ भी लिपिक द्वारा कार्यालय की चाभी नहीं दिया गया। इसकी जानकारी होने पर सभासदों ने बैठक की कार्यवाही पूरी होने तक कार्यालय परिसर छोड़ने से इनकार कर दिया और पूरी रात कार्यालय में ही जमे रहे। 

आज सुबह से ही कार्यालय परिसर का माहौल काफी गर्म रहा ,सभासदों के समर्थन में भीड़ आनी शुरू हो गई। माहौल को देखते हुए नियत समय से ठीक 28 घंटे देर से पहुंचे अधिशासी अधिकारी देवेश मिश्रा कार्यालय पहुंचे और बैठक की कार्यवाही पूण शुरू की लेकिन मजेदार बात यह रहा कि वरिष्ठ लिपिक नगर पंचायत छितौनी में उपस्थित होने बावजूद बोर्ड की बैठक में नहीं पहुचे। लिपिकीय कार्य अधिशासी अधिकारी देवेश मिश्रा स्वयं किये और कार्यवृत्त रजिस्टर पर प्रस्तावों,कार्यवाही और सुझावों को स्वयं ही लिपिबद्ध किया।

बड़े ही नाटकीय घटनाक्रम के बाद हुई बोर्ड की बैठक में वरिष्ठ लिपिक राजेंद्र गुप्ता को जानबूझकर बैठक में न आने,सरकारी दस्तावेजों को चेयरमैन पुत्र तक पहुचाने, गोपनीयता भंग करने व कर्मचारी आचरण के विरुद्ध आचरण करने कारण निलंबित कर अधिशासी अधिकारी को निर्देशित किया गया कि वह इसकी जानकारी विभागीय अधिकारियों को सूचित करें। नगर में बन रहे दुकानों को तत्काल प्रभाव से रोक कर शॉपिंग मॉल के निर्माण जिससे ग्राउंड फ्लोर पर पार्किंग, प्रथम तल पर शॉपिंग कॉम्प्लेक्स का निर्माण, द्वितीय तल पर लॉज के निर्माण संबंधी प्रस्ताव सर्व सम्मति से पास हुआ। नगर के नालियों पर लगे स्लैब जो टूट चुके हैं उनका निर्माण किया जाय।

बोर्ड में यह भी तय हुआ कि चेयरमैन रुखसाना लारी वर्षों से कार्यालय आती ही नहीं है तो उनको शिष्टाचार के मद में मिलने वाली धनराशि बन्द किया जाय और अभी तक शिष्टाचार के मद में जो भी धनराशि उन्होंने ने लिया है उसे रिकवरी किया जाय। भाजपा सभासद अनिल गुप्ता ने प्रस्ताव रखा कि नगर पंचायत के सभी दस्तावेज के रख रखाव कि जिम्मेदारी लिपिक की होती है लेकिन लिपिक कर्मचारी आचरण के विरुद्ध गोपनीय दस्तावेजों को गौर जिम्मेदार लोगों के पास पहुँचाते रहे हैं जो अपराध की श्रेणी में आता है। गौरतलब है कि कुछ दिन पूर्व हुए बोर्ड की बैठक की रजिस्टर को रात में नगर पंचायत कार्यालय में नासिर लारी द्वारा काट दिया गया था। अब सभी दस्तावेजों के रख रखाव एवं सुरक्षा की जिम्मेदारी अधिशासी अधिकारी की होगी जिसे बोर्ड ने सर्वसम्मति से स्वीकृति प्रदान किया। नगर के विकास के लिए किसी भी क्रय विक्रय एवं भुगतान करने के लिए पांच स्तरीय समिति का गठन किया गया जिसमें यह तय हुआ कि बिना इस समिति के बिना अनुसंशा के कोई भुगतान नहीं किया जाएगा।

इस अवसर पर सभासद गायत्री देवी, अमृता गुप्ता, संतोष तिवारी, भगवती पाण्डेय,अनिल गुप्ता, गजेंद्र यादव, मधोक गुप्ता, पशुपति रौनियार, प्रिंस मद्धेशिया,महादेव चौधरी सहित अनेक लोग उपस्थित थे।