Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

सदर में लक्ष्मी स्टोर संचालक के घर सैंपलिंग करने गई मेडिकल टीम से अभद्रता, मौके पर बुलानी पडा पुलिस बल


मेरठ। एक तरफ जहां कोविड महामारी की चेन तोड़ने के लिए प्रशासनिक और स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एड़ी-चोटी का जोर लगाए हुए हैं। वहीं, दूसरी तरफ कुछ लोगों की हठधर्मिता के चलते इस महामारी से निपटना मुश्किल भी साबित हो रहा है। ताजा मामला सदर थाना क्षेत्र का है।


दरअसल, सदर के प्रतिष्ठित लक्ष्मी किराना स्टोर के संचालकों के परिवार की एक महिला और पुरुष दो दिन पहले कोरोना संक्रमित पाए गए थे। बुधवार की सुबह कैंटोनमेंट हॉस्पिटल के कर्मचारी सुमित, सुषमा और सरिता वर्मा सदर दाल मंडी स्थित लक्ष्मी स्टोर के संचालकों के घर पर उनके परिवार के अन्य सदस्यों की सैंपलिंग के लिए गए थे। आरोप है कि इसी दौरान वहां मौजूद शुभम गर्ग ने स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ गाली-गलौज और अभद्रता कर दी। मामले की जानकारी मिलने पर एसीएमओ पीके मिश्रा भी मौके पर पहुंचे। मगर, इसके बावजूद घर के लोग टेस्ट ना कराने की बात पर अड़े रहे।


जिसके बाद मौके पर पहुंचे एसडीएम सदर ने दबंगई पर उतारू लोगों को हड़काते हुए सदर पुलिस को मौके पर तलब कर लिया। इसी के साथ स्वास्थ्य विभाग की टीम का विरोध कर रहे लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने के आदेश दे दिए। जिसके बाद हंगामे पर उतारू स्टोर संचालक के परिजन माफी दरामी पर उतर आए। एसडीएम सदर सुनीता सिंह ने बताया कि संचालक के परिवार के सभी 13 सदस्यों और दुकान के कर्मचारियों की भी सैंपलिंग की जाएगी। जिससे कोरोना की चेन को तोड़ा जा सके।