Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

विकास के लिए भाजपा सरकार के पास न तो कोई योजना है और नहीं कोई विजन:राजेन्द्र चौधरी मुख्य प्रवक्ता


विकास के लिए भाजपा सरकार के पास न तो कोई योजना है और नहीं कोई विजन है। समाजवादी सरकार के कामों को अपना बताना और अखिलेश यादव के निर्माण पर अपने नाम का पत्थर लगाना उसके अब तक के कार्यकाल की एक मात्र उपलब्धि है। शिलान्यास का शिलान्यास और उद्घाटन का उद्घाटन करके ही वह अपना रिपोर्ट कार्ड सजा रही है। मुख्यमंत्री जी अब अपनी करनी छुपाने के लिए असत्य का सहारा लेते रहते है। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे तथा जिला मुख्यालय से गांव तक फोरलेन सड़के बनाकर समाजवादी सरकार ने प्रगति को रफ्तार दी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का मानना है कि सड़कें विकास का सबसे तेज रास्ता खोलती है। लखनऊ में मेट्रो अखिलेश जी के मुख्यमंत्रित्वकाल में ही शुरू हुई। आज तक भाजपा सरकार वाराणसी, गोरखपुर जैसे वीवीआईपी जिलों में भी मेट्रो नहीं चला सकी। पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की शुरूआत समाजवादी पार्टी सरकार में हुई, भाजपा साढ़े तीन साल में भी उसे पूर्ण नहीं कर सकी है जबकि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे दो वर्ष से कम समय में पूरा हो गया था।


    समाजवादी सरकार के समय ही सन् 2012 से 2017 के बीच लखनऊ में जनेश्वर मिश्र पार्क बना जो एशिया का सबसे बड़ा पार्क है। यहां की हरियाली, झील और सुखद माहौल रोज बड़ी संख्या में लोगों को आकर्षित करती हैं। लोहिया पार्क प्रातः सायं भ्रमणकारियों के बीच अत्यंत लोकप्रिय हैं। इन दोनों पार्कों में कई विशेष प्रजाति के पेड़-पौधे लगे हैं। गोमती नदी की सफाई के साथ मनोरम गोमती रिवरफ्रंट भी समाजवादी सरकार की देन है।


     अखिलेश यादव के प्रयासों से लखनऊ में साफ्टवेयर पार्क बना, अमूल डेरी का प्लांट लगा, एचसीएल की यूनिट लगी, नोएडा में सैमसंग स्थापित कराने का श्रेय भी अखिलेश यादव को जाता है। लैपटाप और डिजिटल यूपी की दिशा में प्रगति हुई। गम्भीर बीमारियों कैंसर, किडनी, लीवर, हार्ट का इलाज काफी मंहगा होता है। आम आदमी को भी स्वास्थ्य लाभ मिले इसके लिए समाजवादी सरकार में कैंसर इंस्टीट्यूट बना। अस्पतालों में एक रूपये के पर्चे पर ही मुफ्त इलाज की सुविधा दी गई।


     समाजवादी सरकार के समय एक भव्य जेपी इंटरनेशनल सेंटर का निर्माण हुआ जिसमें स्वतंत्रता संग्राम की यादें संजोई गईं। यहां कई सेमीनार कक्ष, अतिथिगृह, पुस्तकालय आदि के रखरखाव के लिए भाजपा सरकार पैसा देने में भी पीछे हट गई है। सेन्टर में लगे कीमती उपकरण धूल खा रहे हैं। यूपी डायल 100 सेवा, पुलिस मुख्यालय की सिग्नेचर बिल्डिंग और 108-102 जैसी एम्बूलेंस सेवाओं को शुरू करने की पहल अखिलेश ने की थी। भाजपा ने देश-विदेश में प्रशंसित 1090 वूमेन पावर लाइन को भी निस्प्रभावी बना दिया।


     अखिलेश यादव ने बड़ी सोच के तहत अपने मुख्यमंत्रित्वकाल में समाजवादी सरकार में अंतर्राष्ट्रीय स्तर का इकाना स्टेडियम बनवाया जो अपनी हाईटेक सुविधाओं के लिए चर्चित रहा है। यहां स्टेडियम में कई अंतर्राष्ट्रीय मैच हो चुके हैं। इकाना स्टेडियम देश का पहला 19 पिचों वाला क्रिकेट स्टेडियम बन गया है। इस स्टेडियम के पास ही समाजवादी सरकार ने प्रदेश के उत्पादों के विपणन, प्रदर्शन के लिए शान-ए-अवध बाजार बनाया था जिसे भाजपा सरकार ने औनपौने दाम पर बेच दिया है। ऐसे ही नया सूचना परिसर समाजवादी सरकार की देन है। भाजपा नेतृत्व इस हद तक कृतघ्न है कि इसे स्वीकार नहीं करता।


     भाजपा के पास अपना अनोखा विकास का रिकार्ड भी है, प्रदेश की जनता उसकी उपलब्धियों पर सिवाय सिर पीटने के और क्या कर सकती है? भाजपा राज में बेकारी और मंहगाई ने दशको पुराने रिकार्ड तोड़ दिए है। वस्तुतः भाजपा सरकार ने साढे तीन साल से ऊपर के अपने कार्यकाल में उत्तर प्रदेश को कई दशक पीछे ढकेल दिया है। विकास को विनाश में बदलना ही भाजपा का काम रहा है।