Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

प्रशासनिक आदेश की धज्जियां उड़ाते धान क्रय केंद्र, दो-दो सप्ताह अपनी बारी का धान क्रय केंद्र पर इंतजार कर रहे हैं किसान



बहराइच। जिले की मिहींपुरवा तहसील क्षेत्र के ज्यादातर किसान धान क्रय केंद्र के सुस्त रवैया से काफी परेशानी का सामना कर रहे हैं। शासन के स्पष्ट आदेश की लगातार धज्जियां उड़ाई जा रही है विकासखंड मिहिपुरवा में शासन द्वारा 17 धान क्रय केंद्र खोले गए हैं जिसमें ट्राली ट्रैक्टरों की लंबी-लंबी कतारें लगी हुई है जिसमें कुछ टोकन प्राप्त हैँ और बहुत सी ट्राली बिना टोकन के ही लगी हुई है जिससे धान क्रय केंद्र पर कभी भी विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। तौल बंद होने की वजह से केंद्र पर भीड़ बढ़ती जा रही है गौरा पिपरा के किसान निर्मल सिंह का कहना है कि 10 दिन से धान को तौलाने का इंतजार कर रहा हूं| भरिया गांव के विनोद कुमार, निधिपुरवा के किसान अखिलेश कुमार सिंह, महबूबनगर के किसान राजेश कुमार वर्मा, बबलू वर्मा इस तरह तमाम किसान अपनी परेशानियों का रोना रोते हुए मिले। भारतीय खाद्य निगम के धान क्रय केंद्र जरही के इंचार्ज अज़वर अहमद से जानकारी प्राप्त हुई कि हमको जिले से सहयोग नहीं मिल पा रहा है हजारों कुंतल धान हमने खरीद के यहां पर रखा हुआ है जो बरसात के वजह से कभी भी खराब हो सकता है यदि हमारा यह धान जिले पर ले लिया जाए तो हम पुनः खरीद शुरू करवा सकते हैं अभी फिलहाल हम बहुत ही धीमी गति से धान खरीद रहे हैं अगर व्यवस्थाएं सुचारू रूप से नहीं हो पाई तो आने वाले समय में हमको धान की खरीद बंद करनी पड़ेगी। हमारे धान क्रय केंद्र पर अब तक 9000 कुंटल धान की खरीद हो चुकी है इसकी व्यवस्था करने के बाद ही हम धान की खरीद सुचारू कर पाएंगे इसके संबंध में जिला खरीद अधिकारी रमाकांत से फोन पर बात करने की कोशिश की गई तो उनका फोन उठा ही नहीं बार-बार फोन लगाने पर फोन व्यस्त बताता रहा। यदि समय रहते जिले स्तर से कोई कार्यवाही नहीं होती है तो समस्या विकराल रूप धारण कर सकती है।