Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

घर के बहार बैठी महिला,लगाये ससुरालीजनों पर गंभीर आरोप, सीआरपीसी की गंभीर धाराओं में कराया था अभियोग दर्ज


कासगंज | कल सांय लगभग 8 बजे जनपद कासगंज के कासगंज शहर नदरई गेट झौरा-भौरा वाली गली पर स्थित दूकान जनता क्लोथ हाउस के बाहर एक महिला बैठी हुई मिली जो मीडिया को देखते ही फूट-फूट कर रोने लगी | महिला लक्ष्मी महेश्वरी ने मीडियाकर्मियों को रोते हुए अपना दर्द बयां करते हुए बताया कि उसका विवाह मयंक महेश्वरी पुत्र राकेश महेश्वरी नदरई गेट कासगंज से आर्य समाज द्वरा हिन्दू मेरेज एक्ट 25 सन 1955 के तहत हुई थी | शादी के कुछ समय के बाद ही उसके पति और ससुरालीजनों ने उसके साथ प्रताड़ित करने लगे | और हद तो तब हो गई जब महिला ने एक बेटी को जन्म दिया | उसके बाद उसे घर से बहार निकाल दिया | शादी के बाद बढ़ती मांगों और मारपीट से परेशान महिला ने सीआरपीसी की गंभीर धाराओं में अभियोग ससुरालीजनों और पति के विरुद्द दर्ज करा दिया | महिला ने बताया कि उसके बाद तो मानो बाढ़ सी आ गयी | महिला ने बताया कि अभियोग दर्ज होने के बाद उसको मुकद्दमा बापस लेने के लिए दबाब बनाया जाने लगा | वापस न लेने पर उसे जानसे भी मारने की धमकियां मिलने लगीं | पीडिता ने बताया कि उसके साथ आरोपी पति ने धोखे से शादी की थी और जिसके साक्ष्य भी मीडियाकर्मियों के सामने दिए | पीड़ित महिला का कहना है कि दबाब बनाने वालों में सत्ताधारी लोग भी शामिल है जिनसे उसे जान से मारे जाने का ख़तरा है |