Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

समाधान दिवस में आये हर फरियादी के शिकायत का समय से हो निस्तारण : डीएम



श्रावस्ती। समाधान दिवस में आये फरियादियों के शिकायतों के निस्तारण में फर्जी रिपोर्टिग करने वाले अधिकारी को बख्सा नही जायेगा। फरियादियो के मोबाइल पर बात करने पर अगर निस्तारण फर्जी पाया गया तो निश्चित ही सम्बन्धित अधिकारियों/कर्मचारियों से जवाब तलब के साथ ही निलम्बन की कार्यवायी होगी। उक्त निर्देश थाना सोनवा में आयोजित समाधान दिवस की अध्यक्षता करते हुए जिलाधिकारी टीके शिबु ने दिया। उन्होने कहा कि लेखपाल एवं ग्राम पंचायत अधिकारी गांव के विकास की मुख्य धुरी हैं और गांव में जिला प्रशासन का प्रतिनिधित्व करते हैं। इसलिए उनका दायित्व बनता है कि गांव में हो रही हर गतिविधियों पर अपनी पैनी नजर रखें। यदि कहीं पर उन्हे किसी प्रकार की संदिग्ध गतिविधियां मिलती है तो तत्काल वे उच्चाधिकारियों को अवगत करायें ताकि उनके विरूद्ध कार्यवायी की जा सके। जिलाधिकारी ने पुलिस व राजस्व विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया कि समाधान दिवस में आने वाले फरियादियों की समस्याओं का त्वरित निस्तारण मौके पर जाकर करें। राजस्व निरीक्षक अपने-अपने क्षेत्रो में टीम बनाकर थाना दिवस में प्राप्त शिकायतो का निस्तारण पुलिस के सहयोग से करें और इसमें कोई लापरवाही न बरतें। जिलाधिकारी ने सभी लेखपाल एवं राजस्व निरीक्षक को निर्देश दिया है कि सरकारी जमीनों में किसी भी प्रकार का कब्जा न किया जाए, यदि किसी भी क्षेत्र में इस प्रकार की शिकायत मिली तो सम्बन्धित क्षेत्र के लेखपाल/राजस्व निरीक्षक के विरूद्ध कार्यवायी सुनिश्चित की जायेगी। इस अवसर पर उपस्थित पुलिस अधीक्षक अरविन्द कुमार मौर्या ने थाना प्रभारियो को निर्देश दिया कि थाना दिवसो में प्राप्त शिकायतो का निस्तारण राजस्व कर्मचारियों के साथ मिलकर प्राथमिकता के आधार पर करें। समाधान दिवस पर उप जिलाधिकारी जमुनहा जेपी चैहान, थानाध्यक्ष विजय बहादुर सिंह समेत क्षेत्र के राजस्व निरीक्षक एवं लेखपाल उपस्थित रहे।