Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

कंटेनर बेकाबू होकर हाईवे किनारे नाले के पटाव पर सो रहे लोगों पर चढ़ा,हादसे में छह लोगों की मौत

 



आगरा के सिकंदरा क्षेत्र में गुरुद्वारा गुरु का ताल के पास मंगलवार देर रात मथुरा की ओर जा रहा कंटेनर बेकाबू होकर हाईवे किनारे नाले के पटाव पर सो रहे लोगों पर चढ़ गया। इस हादसे में छह लोगों की मौत हो गई, जबकि एक गंभीर हालत में एसएन इमरजेंसी में भर्ती है।


पुलिस ने पीछा करके कंटेनर को रोक लिया। चालक और परिचालक को हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने बताया कि मैनपुरी के किशनी क्षेत्र के डांडिया गांव निवासी चालक मुनेश और क्लीनर सिंटू खाली कंटेनर लेकर मैनपुरी से गुरुग्राम को निकले थे। 


मंगलवार रात करीब ढाई बजे कंटेनर लेकर वे ट्रांसपोर्ट नगर की ओर से मथुरा की ओर जा रहे थे। गुरुद्वारा गुरु का ताल कट को पार करते ही घुमावदार मोड़ है। इस मोड़ पर यह ट्रक अनियंत्रित हो गया। इसके बाद हाईवे से करीब 15 फीट बायीं ओर चला गया। हाईवे किनारे बने ढके हुए नाले के ऊपर चढ़ने के बाद कंटेनर करीब 25 फीट आगे बढ़ा और दो खम्भे तोड़ने के बाद शू शॉप के सामने सो रहे सात लोगों पर चढ़ गया। इसके बाद भी चालक ने ब्रेक नहीं लगाए।


चालक कंटेनर को हाईवे की ओर मोड़कर तेज गति से सिकंदरा की और भाग गया। गुरु का ताल गुरुद्वारा के सामने चीता मोबाइल के सिपाही खड़े थे। उन्होंने कंटेनर का पीछा किया और वायरलेस पर मैसेज कर दिया। सिकंदरा चौराहे पर पुलिस ने कंटेनर को रोक लिया। चालक-क्लीनर गिरफ्तार कर लिए। 


नहीं लगाए ब्रेक, बच गए 50 लोग


प्रत्यक्षदर्शी मुकेश, काले, सुरेंद्र ने बताया कि वह रास्ते से निकल कर जा रहे थे, तभी हादसा हुआ। कंटेनर चालक ने हादसे के बाद भी ब्रेक नहीं लगाए। वह कंटेनर लेकर चला गया। गुरुद्वारा गुरु का ताल पर चीता मोबाइल के सिपाही खड़े हुए थे।


हादसे की आवाज सुनकर सिपाही आ गए। घायलों के बारे में वायरलेस से थाने पर सूचना दी। इसके बाद कंटेनर का पीछा शुरू कर दिया। पांच मिनट में ही थाने पुलिस फोर्स पहुंच गई। लहूलुहान पड़े लोगों को वहां से अपनी गाड़ियों में ही एसएन इमरजेंसी पहुंचाया। 


प्रत्यक्षदर्शियों ने बताई हादसे की कहानी


प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि जिस जगह पर हादसा हुआ, उससे तकरीबन ढाई सौ मीटर दूर तक लोग हाईवे के किनारे सोते हैं। इससे हर समय हादसे की आशंका बनी रहती है। रात को हुए हादसे के बाद यह लोग दहशत में आ गए। वहां से चले गए।


अगर, कन्टेनर ज्यादा आगे और बढ़ता तो यह लोग भी चपेट में आ सकते थे। दुर्घटनास्थल पर ही दो अन्य युवक भी सो रहे थे। इनमें से एक हादसे का शिकार हुए लोगों के पास ही था। वह बच गया। जबकि दूसरा हादसे से दो मिनट पहले ही शौच के लिए चला गया और बच गया।


पांच की मौके पर मौत


हादसे में पांच लोगों की मौके ही मौत हो गई। दो घायलों को इमरजेंसी में भर्ती कर लिया। घायलों में शाहगंज के भोगीपुरा निवासी सुनील की इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि दूसरे घायल जगदीशपुरा के गढ़ी भदौरिया निवासी नितिन शर्मा का अभी इमरजेंसी में उपचार चल रहा है। पांच मृतकों की अभी शिनाख्त नहीं हो सकी है। 


दर्ज किया जा रहा मुकदमा


थाना सिकंदरा के प्रभारी निरीक्षक अरविंद कुमार ने बताया कि हादसे का शिकार हुए लोग गुरुद्वारे में खाना खाने के बाद दुकानों के सामने सो जाते थे। ये स्थानीय ही बताए जा रहे हैं। इनकी पहचान के प्रयास किए जा रहे हैं। ट्रक चालक और क्लीनर के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया जा रहा है।