Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

मुख्यमंत्री कार्यालय के सामने आत्मदाह की कोशिश के मामले में पुलिस ने चार लोगों को किया गिरफ्तार


नाली विवाद की सुनवाई कथित रूप से न होने से परेशान मां-बेटी द्वारा लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय के सामने आत्मदाह की कोशिश के मामले में पुलिस ने अमेठी में चार लोगों को गिरफ्तार किया है.


गौरीगंज के पुलिस क्षेत्राधिकारी अर्पित कपूर ने रविवार को बताया कि इस मामले में अमेठी के जामो थाना क्षेत्र में अर्जुन, सुनील, राजकरन और राम मिलन नामक व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है. उन्होंने बताया कि इन लोगों का आत्मदाह की कोशिश करने वाली सफिया और उसकी बेटी गुड़िया के साथ नाली को लेकर विवाद था. इन लोगों के खिलाफ गत नौ मई को जामो थाने में मामला भी दर्ज हुआ था.


कपूर ने बताया कि मां-बेटी को आत्मदाह के लिए उकसाने के आरोप में ऑल इंडिया मजलिस इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के जिलाध्यक्ष कदीर खान को लखनऊ पुलिस ने अमेठी में शनिवार देर रात गिरफ्तार कर लिया.


इस मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में चार पुलिसकर्मियों को पहले ही निलंबित किया जा चुका है. इस बीच, लखनऊ के सिविल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर आशुतोष कुमार दुबे ने बताया कि गंभीर रूप से झुलसी सफिया की हालत चिंताजनक है जबकि उसकी बेटी की हालत में सुधार हो रहा है.


ये था पूरा मामला


गौरतलब है कि अमेठी के जामो थाना क्षेत्र की रहने वाली सफिया और उसकी बेटी गुड़िया ने नाली के विवाद में अधिकारियों द्वारा कोई सुनवाई न किए जाने से क्षुब्ध होकर गत शुक्रवार लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय के सामने खुद को आग लगा ली थी. दोनों को गंभीर रूप से झुलसी हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया. इस मामले में एआईएमआईएम और कांग्रेस के कुछ नेताओं पर उकसाने का आरोप लगाया गया है.