Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

शिवसेना की सक्रियता से प्रभावित होकर बजरंगियों ने थामा हाथ..


छत्तीसगढ़ (कोंडागांव) । शिवसेना छत्तीसगढ़ ने प्रदेश अध्यक्ष धन्नजय सिंह परिहार के कुशल नेतृत्व में अपना ३६वां वर्ष पूर्ण कर लिया है। गौरतलब होकि पृथक छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण मेम शिवसेना की अहम भूमिका रही है। शिवसेना के नेतृत्व में 1995 से 1998 के बीच 40 हजार से अधिक संख्या में रायपुर, भोपाल सहित देश की राजधानी दिल्ली में विशाल प्रदर्शन करते हुए छत्तीसगढ़ राज्य गठन हेतु प्रयास किया गया था।


 


लगातार हिंदुत्व व देशहित के मुद्दों पर सक्रियता से प्रभावित होकर कोंडागांव ज़िले से अब बजरंगदल के कार्यकर्ताओं ने भी शिवसेना का दामन थाम लिया है। इस अवसर पर शिवसेना कोंडागांव इकाई का विस्तार करते हुए ज़िला अध्यक्ष पंकज कुर्रे व युवासेना के विधानसभा अध्यक्ष अंकित मिश्रा के नेतृत्व में २ दर्जन से अधिक बजरंगियों ने शिवसेना की प्राथमिक सदस्यता ग्रहण किया है। युवासेना के प्रदेश सचिव डॉ. अरुण पाण्डेय् के अनुशंसा पर आज ज़िला कार्यालय पर आयोजित एक कार्यक्रम में सभी नए सदस्यों को शिवमाला पहनाते हुए विधिवत संगठन में विस्तार दिया गया। इस दौरान सभी नए सदस्यों ने शिवसेना के हिंदुत्ववादी विचारधारा कोनागे लेकर जाने का संकल्प लिया।


 


शिवसेना के युवा इकाई युवासेना का विस्तार करते हुए सर्वसम्मति से शानू बघेल को ज़िला अध्यक्ष, राजेश गावड़े एवं अनिल वैद्य को जिला उपाध्यक्ष, सन्नी सोनी को जिला सचिव, गोकुल वैद्य एवं गणेश मानिकपुरी को मीडिया प्रभारी तथा पीयूष देवांगन को कोंडागांव नगर अध्यक्ष, उपेंद्र कोर्राम को कोंडागांव नगर उपाध्यक्ष, डिसेंटू वैद्य को फरसगांव जनपद अध्यक्ष, जागेश गोटो को बड़े राजपुर अध्यक्ष और अभय गायकवाड़, संजय पिल्ले, अभिषेक पोयम, मेघनाथ बघेल, चेतमन बघेल, संजय सोढ़ी, गोलूल वैद्य, मनुराम मंडावी, तिलक मानिकपुरी, लोकेश बघेल, प्रवीण शर्मा को सदस्यता दिया गया है। इस अवसर पर शिवसेना महासचिव चंद्रमौली मिश्रा ने सभी नवनियुक्त पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं का स्वागत किया तथा युवासेना विधानसभा अध्यक्ष अंकित मिश्रा व ज़िला अध्यक्ष पंकज कुर्रे को बधाई प्रेषित किया है।


 


उन्होंने कहा हैकि उत्तरबस्तर कोंडागांव में शिवसेना की सक्रियता नित प्रतिदिन बढ़ते ही रही है, आगामी समय में शिवसेना द्वारा क्षेत्र के तमाम समस्याओं पर मुखर होकर प्रशासन का ध्यानाकर्षण जारी रहेगा।