Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

भिनगा के कई मुहल्लों में फैला संदिग्ध बुखार, दर्जनों लोग बीमार, जिला अस्पताल समेत निजी चिकित्सकों के यहां चल रहा है ईलाज


भिनगा-श्रावस्ती। भिनगा नगर में संदिग्ध बुखार की चपेट में दर्जनों लोगों के आ जाने से हड़कंप मच गया है। पिछले दो दिनों से तेजी से फैल रहे इस बुखार से हर कोई सहमा हुआ नजर आ रहा है। बुखार से पीड़ित लोगों का जिला अस्पताल समेत अन्य चिकित्सालय में इलाज चल रहा है। वहीं कुछ मरीजों के तीमारदारों के अनुसार उनके मरीजों में डेंगू के लक्षण पाये गए हैं। भिनगा नगर के मोहल्ला बारी निवासी शिवम बारी, पुरानी बाजार निवासी चुन्ना बाथम, मोहल्ला बारी निवासी बलराम, पुरानी बाजार निवासी मुकेश गुप्ता सहित कई लोग इस संदिग्ध बुखार से पीड़ित हैं। उक्त संदिग्ध बुखार मच्छरों से फैलने की आशंका व्यक्त की जा रही है। इस सन्दर्भ में जानकार बताते हैं कि डेंगू, मलेरिया, चिकनगुनिया आदि बीमारियां मच्छरों के प्रकोप से हीं फैलती है। मलेरिया का बुखार मादा एनाफिलीज (मच्छर) के काटने से होता है। जो जल जमाव के कारण पैदा होते हैं। इसके लक्षण तेज बुखार आना, ठंड लगना, पसीना निकलना तथा सिर में तेज दर्द होना आदि है। इसी प्रकार डेंगू की बिमारी एडीज नामक मच्छर के काटने से होती है। डेंगू बीमारी के शुरुआती लक्षण तेज बुखार, जोड़ो में दर्द, सिर दर्द, बदन दर्द, शरीर पर चकत्ता पड़ना आदि है। वहीं चिकन गुनिया में जोड़ो में दर्द, सिर दर्द, उल्टी, पेट दर्द तथा त्वचा पर चकत्ते आदि पाये जाते हैं।


संदिग्ध बुखार से बचाव के बारे में अपर मुख्य चिक्तिसा अधिकारी डॉ मुकेश मातन हेलिया बताते हैं कि मच्छरों से बचाव के लिए घरों के आसपास जल भराव न होने दें, घरों के आसपास कूड़ा करकट का ढेर न लगने दें, फुल आस्तीन के कपड़े पहने तथा रात में सोते समय अपने शरीर को ढक कर रखें।


इस सन्दर्भ में नगर पालिका परिषद अध्यक्ष अजय आर्य का कहना है कि नगर में फांगिंग और नालियों में दवा का छिड़काव लगातार कराया जा रहा है। साथ हीं पूरे नगर पालिका क्षेत्र में फ़ांगिंग का निर्देश दे गया है।