Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

जिला चिकित्सालय के बाहर कर्मचारियों ने किया विरोध प्रदर्शन 


इटावा। जिला चिकित्सालय इटावा के प्रशासनिक भवन पर एक दिवसीय विरोध प्रदर्शन कार्यक्रम के संयोजक डॉ धर्मेंद्र यादव ने कहा कि, प्रदेश में निजीकरण आउटसोर्सिंग और संविदा का जोर बहुत तेजी से चल रहा है । डिप्लोमा फार्मेसिस्ट एसोसिएशन इटावा के अध्यक्ष डॉ जे एन वर्मा ने बताया कि, सरकार अब कर्मचारियों को जबरन 50 वर्ष की उम्र पर रिटायर कर रही है जबकि इसी समय कर्मचारी के ऊपर परिवार एवं अन्य जिम्मेदारी अधिक होती है।


जिला चिकित्सालय के प्रबंधक डॉ निखिलेश कुमार ने सरकार से अपील की जो कर्मचारी अस्थाई नियुक्ति पर हैं उन्हें नियमित किया जाए कर्मचारी शिक्षक एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष रिजवान अहमद ने बताया कि, सरकार ने सभी चतुर्थ वर्ग की नौकरियां ही समाप्त कर दी हैं केवल आउटसोर्सिंग के द्वारा बहुत ही अल्प वेतन पर कर्मचारियों को रखा जाता है जिससे उनका लगातार उत्पीड़न होता रहता है । कार्यक्रम में राजकीय नर्सेज संघ की भाविनी वर्मा, अरुण पाल हेमंत कुमार ने विचार विचार व्यक्त किए चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संघ के अध्यक्ष श्री राजू ने कहा कि कोरोना काल में सभी कर्मचारियों ने बेहतर कार्यशैली से अपनी सेवा सेवाएं प्रदान की फिर भी हमारे वेतन भत्तों में कटौती की गई । आज के इस विरोध प्रदर्शन में चीफ फार्मेसिस्ट डॉ जीसी पाल डॉ एस के वर्मा डॉ आरती राजपूत विशाल स्नातक आउटसोर्सिंग संघ इटावा के अध्यक्ष राजेश कुमार नरेश कुमार नर्सेज संघ से अनुराग चौरसिया अनामिका शशि शिव शंकर कुलदीप कुमार अजय शर्मा सहित शिव कुमार वैभव सिंह सुनील कुमार अरविंद पाल आदि कर्मचारी उपस्थित रहे । कार्यक्रम में सोशल डिस्टेंसिंग का भी विधिवत पालन किया गया । 


संयोजक डॉ धर्मेंद्र यादव राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद इटावा जिला प्रभारी कर्मचारी शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन इटावा प्रवक्ता डिप्लोमा फार्मासिस्ट एसोसिएशन इटावा रहे ।