Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

जिले में कराए जा रहे विकास कार्यों की समीक्षा करने के लिए कलक्ट्रेट पहुंचे मण्डलायुक्त ने 10 नवम्बर तक सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के दिए निर्देश


कन्नौज। जिले में कराए जा रहे विकास कार्यों की समीक्षा करने के लिए गुरुवार को कलक्ट्रेट पहुंचे मण्डलायुक्त ने 10 नवम्बर तक सड़कों को गड्ढा मुक्त करने के निर्देश दिए। इसके अलावा भी उन्होंने कई विभागों के कार्यों की समीक्षा की और लापरवाही मिलने पर नाराजगी भी व्यक्त की।


आयुक्त कानपुर मण्डल डा. राज शेखर ने कलक्ट्रेट सभागार में बैठक कर विकास कार्यो की समीक्षा की। उन्होंने सिचाईं, विद्युत, चिकित्सा, लोक निर्माण विभाग, सड़क, पशुपालन, पंचायतीराज, डूडा, पूर्ति, शिक्षा विभाग, श्रम, आदि विभागों की विकास योजनाओं की समीक्षा करते हुये अधिकारियों को जरूरी दिशा-निर्देश दिए। लोक निर्माण विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि जनपद में कुल 1445 सड़कें लगभग 2881 किलोमीटर की है। जिनमें गढढामुक्त का कार्य 80 प्रतिशत तक हो चुका है। ऐसे में मण्डलायुक्त ने पीडब्ल्यूडी के अधिशासी अभियंता को निर्देशित करते हुये कहा कि गढढामुक्त सड़कों का कार्य 10 नवम्बर तक पूर्ण करा लिया जाए। और इसकी सूची जिलाधिकारी को उपलब्ध कराए। इसके अलावा उन्होंने जिलाधिकारी को टीम गठित कर जांच कराने और कार्य की रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। उन्होनें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के बारे में जानकारी की। जिसमें बताया कि अब तक लगभग 15 हजार किसानों का डाटा फीड हो चुका है, जिस पर उन्होनें कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा कि 1 नवम्बर तक फीडिंग का कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करें।


 


डा. शेखर को पशुपालन विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि पशुओं के टीकाकरण का काम मात्र 16 प्रतिशत किया गया है। जिस पर उनका पारा चढ़ गया और उन्होंने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देशित करते हुए 15 नवम्बर तक टीकाकरण का कार्य शत-प्रतिशत कराने के निर्देश दिए। उन्होंने यह भी हिदायत दी कि यदि कार्य मे लापरवाही बरती गई तो कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होनें यह भी कहा कि पिछले 10 वर्षों में जो पटटे पशुपालन के लिये आवंटित किये गये है, उनको सर्वे कराकर यह पता करें कि जिस कार्य के लिए पट्टा आवंटित हुआ है, उक्त जमीन पर वह कार्य किया जा रहा या नही। अगर पट्टे वाली जमीन पर कोई और कार्य किया जा रहा हो तो पट्टे के निरस्तीकरण की कार्यवाही करें। समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी राकेश कुमार मिश्रा, एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह, अपर जिलाधिकारी गजेंद्र कुमार, सीएमओ डॉ. के. स्वरूप समेत कई विभागों के अधिकारी और कर्मचारी मौजूद रहे।