Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

परिवार नियोजन कार्यक्रम की बढ़ेगी रफ़्तार – सी.एम.ओ. 


 परिवार नियोजन कार्यक्रम की बढ़ेगी रफ़्तार – सी.एम.ओ. 


 सी.एम.ओ. दफ्तर के सभागार में शुरू हुआ विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम 


अंतरा से जुड़े किसी भी सवाल के लिए डायल करें टोल फ्री नं. 1800 103 3044 (अन्तरा केयर लाइन)


प्रयागराज, अक्टूबर - कोरोना काल में सभी कार्यक्रमों को सुचारू रूप से चलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग हर दिन प्रयासरत है । इसी क्रम में सी.एम.ओ. दफ्तर के सभागार में परिवार नियोजन के नए साधनों के प्रयोग पर सोमवार से विशेष प्रशिक्षण शुरू किया गया है । अक्टूबर तक चलने वाले इस कार्यक्रम में सी.एच.ओ., ए.एन.एम. और स्टाफ नर्स को परिवार नियोजन के नए साधनों पर प्रशिक्षित किया जा रहा है ।


सी.एम.ओ. मेजर जी.एस. बाजपेई ने हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर के सभी सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि मात्र मृत्यु दर और शिशु मृत्यु दर को कम करने में परिवार नियोजन सेवाओं की महत्वपूर्ण भूमिका होती है इसलिए इसे बढ़ाना आवश्यक है । इसके लिए सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर सभी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें जिसके अन्तर्गत परिवार नियोजन की नई विधियों अन्तरा और छाया की सेवाएँ भी हों साथ ही हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर परिवार नियोजन की सेवाएँ भी उपलब्ध हो सकें । उन्होंने कहा कि अधिकाधिक लाभार्थियों को अन्तरा और छाया की सेवा से जोड़ा जाये । इस सेवा के सभी हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर आरंभ के बाद प्रदर्शन मूल्याँकन भी किया जायेगा । 


परिवार कल्याण नोडल ए.सी.एम.ओ. डॉ. सत्येन राय ने बताया कि कोरोना के कारण परिवार नियोजन की सुविधाएँ लोगों तक पहुंचा पाने में जो बाधाएं आ रही थी आशा है कि इस प्रशिक्षण के बाद सभी प्रशिक्षित सी.एच.ओ व ए.एन.एम. अपने सेंटरों पर बास्केट ऑफ़ चॉइस के जरिये अन्तरा और छाया की सेवा को समुदाय तक पहुचाएंगे I   


टी.एस.यू. के परिवार नियोजन विशेषज्ञ ने बताया कि जनपद के 65 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर पर अन्तरा और छाया की सेवाएँ शुरू होनी है इसमें से 26 केन्द्रों पर सेवा शुरू हो चुकी है और अक्टूबर में प्रशिक्षण पूर्ण होने के बाद सभी केन्द्रों पर सुविधाएँ उपलब्ध होंगी । परिवार नियोजन लाजिस्टिक प्रबंधक सचिन ने प्रशिक्षण में प्रतिभाग करने वाली ए.एन.एम. को परिवार नियोजन लाजिस्टिक मैनेजमेंट सिस्टम के माध्यम से सामग्री प्रबंधन करना बताया । आस्थाई साधन अन्तरा इंजेक्शन लगवाने वाली महिलाओं के लिए मुफ्त अंतरा केयरलाइन (1800 103 3044)की सेवा भी शुरू की गई है । इसकी सहायता से इंजेक्शन उपरान्त सुबह 8 से शाम 9 बजे तक परामर्श लिया जा सकता है ।