Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर्स आत्मनिर्भर निधि योजना के तहत शहरी पथ विक्रेताओं को ऋण स्वीकृति के दिए गए प्रमाणपत्र


प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर्स आत्मनिर्भर निधि योजना के तहत शहरी पथ विक्रेताओं को ऋण स्वीकृति के दिए गए प्रमाणपत्र


प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर्स आत्म निर्भर निधि योजना से आत्मनिर्भर और सशक्त बन सकेगें पथ विक्रेता....


मा. प्रधानमंत्री जी द्वारा पीएम स्वानिधि योजना के लाभार्थियों से वर्चुअल संवाद कार्यक्रम का दिखाया गया सजीव प्रसारण।


 


अमेठी : रेहड़ी और पथ विक्रेताओं (छोटे सड़क विक्रेताओं) को अपना खुद का काम नए सिरे से शुरू करने के लिए केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेन्डर्स आत्म निर्भर निधि योजना के तहत मंगलवार को जिले के 1099 पटरी दुुकानदारों को ऋण स्वीकृति का प्रमाण पत्र वितरित किया गया। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित कार्यक्रम में मा0 प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने योजना के लाभार्थियों से वर्चुअल संवाद किया तथा उन्हें सम्बोधित किया। प्रधानमंत्री जी के उद्बोधन के उपरान्त मैंने व अपर जिलाधिकारी वंदिता श्रीवास्तव ने योजना के अन्तर्गत चयनित पथ विक्रेताओं को प्रमाण पत्र प्रदान किया।


कार्यक्रम के दौरान मैंने योजना के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि इस योजना का लाभ सभी छोटे पथ विक्रेताओं, सड़क के किनारे रेहड़ी, पटरी दुकान वालों को प्रदान किया जा रहा है। स्ट्रीट वेंडर्स 10000/- रुपये तक की कार्यशील पूंजी ऋण का लाभ उठा सकते हैं, जिसे वे एक वर्ष में मासिक किस्तों में चुका सकते हैं। इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को 7 प्रतिशत का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत जिले के लिए निर्धारित लक्ष्य 2035 के सापेक्ष 1436 लाभार्थियों का ऋण स्वीकृत करते हुए आज 1099 पथ विक्रेताओं को लाभान्वित किया गया है। रेहड़ी-पटरी वालों और ठेले पर सामान बेचने वाले अपना जीवन यापन करने के लिए काम नहीं कर पा रहे थे, उनकी समस्या को देखते हुए केंद्र सरकार ने इस योजना की शुरूआत की।


उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान लॉकडाउन से प्रभावित शहरी पथ विक्रेताओं हेतु प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत रेहड़ी, पटरी वालों को अपना काम दोबारा से शुरू करने के लिए सरकार द्वारा ऋण मुहैया कराया जा रहा है जिससे इस योजना के जरिए रेहड़ी, पटरी वाले आत्मनिर्भर और सशक्त बन सकेगें तथा इस योजना के जरिये गरीबों की आर्थिक व सामाजिक स्थिति में सुधार होगा। इसके साथ ही माननीय प्रधानमंत्री जी के कार्यक्रम का सभी नगर निकायों में एलईडी स्क्रीन के माध्यम से सजीव प्रसारण लाभार्थियों को दिखाया गया।