Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

6 साल बाद फिर से उत्तर प्रदेश विधान परिषद के शिक्षक विधान परिषद सदस्य के लिए मतदान मंगलवार को


अयोध्या। 6 साल बाद फिर से उत्तर प्रदेश विधान परिषद के शिक्षक विधान परिषद सदस्य के लिए मतदान मंगलवार को आयोजित होगा। मतदान प्रक्रिया को सकुशल और शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए जिला प्रशासन की ओर से 6 जोनल मजिस्ट्रेट और 15 माइक्रो ऑब्जर्वर की तैनाती की गई है। सोमवार को पोलिंग पार्टियां अपने-अपने मतदान केंद्रों पर पहुंच गई इसके पूर्व सुरक्षा को लेकर पुलिस लाइन में एसपी सिटी ने ड्यूटी में लगाए गए पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों को ब्रीफिंग कर जरूरी हिदायत दी।


प्रदेश के विधान परिषद के लिए रिक्त हो रहे सीटों के लिए चक्रानुक्रम में प्रत्येक 2 वर्ष पर चुनाव कराया जाता है। विधान परिषद में अलग-अलग कैटेगरी की सीटें हैं। विभिन्न वर्गों के लिए आरक्षित सीटों पर चयनित विधान परिषद सदस्यों का कार्यकाल 6 साल का होता है। शिक्षक वर्ग के लिए आरक्षित सीटों के रिक्त होने को लेकर निर्वाचन आयोग की ओर से उत्तर प्रदेश विधान परिषद द्विवार्षिक सामान्य निर्वाचन 2020 के तहत गोरखपुर फैजाबाद खंड शिक्षक निर्वाचन के लिए मतदान कराया जा रहा है। इस चुनाव में माध्यमिक शिक्षक संघ के शर्मा गुड और ठकुराई गुट के अलावा वित्तविहीन शिक्षक संघ, समाजवादी पार्टी अखिल भारतीय कांग्रेस पार्टी समेत विभिन्न दलों और संगठनों के प्रत्याशी मैदान में हैं।


जिले से 2962 मतदाता करेंगे प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला


गोरखपुर फैजाबाद शिक्षक निर्वाचन के लिए जनपद से कुल 2962 मतदाता है जिसमें एक 2196 पुरुष और मात्र 766 महिला मतदाता हैं। मतदान के लिए चुनाव आयोग की ओर से जिले में कुल 15 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इन मतदान केंद्रों में 2 अतिसंवेदनशील, 3 संवेदनशील और 10 सामान्य की श्रेणी में रखे गए हैं। मतदान प्रक्रिया सुबह 8:00 बजे से शुरू होकर शाम 5:00 बजे तक चलेगी। मंगलवार को आयोजित मतदान के लिए सोमवार को पूर्वान्ह कलेक्ट्रेट सभाकक्ष से पोलिंग पार्टियों को प्रशिक्षण के बाद लेखन सामग्री, मत पेटिका, मतपत्र, निर्वाचक नामावली और कोविड की मेडिकल किट के साथ अपने-अपने मतदान केंद्रों के लिए रवाना किया गया। दूसरी पहर 3:00 बजे सभी पोलिंग पार्टियां अपने-अपने मतदान केंद्रों पर पहुंच चुकी थी।


कोविड को लेकर किए गए हैं अतिरिक्त इंतजाम


वैश्विक महामारी का रूप धारण कर चुके नोबेल कोरोनावायरस के संक्रमण के बीच आयोजित हो रहे शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव के लिए चुनाव आयोग के निर्देश पर जिला प्रशासन ने अतिरिक्त इंतजाम किया है। सोशल डिस्टेंसिंग को मेंटेन करने के लिए प्रत्येक मतदान केंद्र पर दो 2 गज की दूरी पर गोला बनाया गया है। जिसमें मतदाताओं को खड़ा किया जाएगा।


वहीं चुनाव में लगे अधिकारियों और कर्मचारियों को फेस शील्ड, फेस मास्क, ग्लब्ज आदि वितरित किया गया है। अधिकारियों और कर्मचारियों को कोविड-19 दिशा निर्देशों का अनुपालन करने के साथ सभी से इसका कड़ाई से अनुपालन कराने की हिदायत दी गई है। प्रत्येक मतदान केंद्र पर कोविड-19 बेस्ट बनाया गया है जिस पर आशा बहू की तैनाती की गई है। सभी कर्मचारियों अधिकारियों और मतदाताओं की थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था की गई है। जिसका भी शारीरिक तापमान 100 डिग्री सेंटीग्रेड से ऊपर होगा उसको मतदान प्रक्रिया के आखिरी घंटे में मतदान की अनुमति दी जाएगी। ड्यूटी में लगाए गए अधिकारियों कर्मचारियों को मतदान समाप्त के बाद कोविड-19 सामग्रियों को नष्ट कराने के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी की ओर से नियुक्त की गई टीम के हवाले करने के लिए कहा गया है।


ड्यूटी पर किसको कितना मिलेगा मानदेय


निर्वाचन आयोग की ओर से उत्तर प्रदेश विधान परिषद देवास की सामान्य निर्वाचन गोरखपुर फैजाबाद खंड शिक्षक निर्वाचन की ड्यूटी में लगाए गए अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए मानदेय भी तय किया गया है। यह मानदेय ड्यूटी में लगाए गए अधिकारियों और कर्मचारियों को नगद भुगतान दिया जाएगा। निर्वाचन आयोग की ओर से सेक्टर मजिस्ट्रेट को 15 सो रुपए पीठासीन अधिकारी का 1200 रुपए, मतदान अधिकारी और प्रथम और द्वितीय का 900 रुपये, मतदान अधिकारी तृतीय का 600 रुपये और माइक्रो ऑब्जर्वर का 1000 रुपया मानदेय तय किया गया है।


सुरक्षा में लगे अधिकारियों कर्मचारियों की हुई ब्रीफिंग


- सोमवार को गोरखपुर फैजाबाद खंड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्र के चुनाव को लेकर आयोजित मतदान के लिए ड्यूटी में लगाए गए पुलिस विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों की पुलिस लाइन में ब्रीफिंग की गई। अपर पुलिस अधीक्षक नगर विजय पाल सिंह मैं ड्यूटी में लगाए गए अधिकारियों और कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि मतदान प्रक्रिया को शत-शत और शांतिपूर्वक संपन्न कराने के लिए चुनाव आयोग की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का पूरी तरह अनुपालन करना है। सभी को यह बात ध्यान में रखनी है कि चुनाव पूरी तरह निष्पक्ष और शांतिपूर्वक संपन्न हो। उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी को लेकर कोविड-19 के दिशा निर्देशों का भी कड़ाई से अनुपालन करना भी है और इसका पालन कराना भी है। सभी पुलिसकर्मियों को अपने अपने क्षेत्र के जोनल और माइक्रो ऑब्जर्वर से समन्वय बनाकर मतदान प्रक्रिया को संपन्न कराना है।


उप जिला निर्वाचन अधिकारी पुरुषोत्तम दास गुप्ता और जिला विकास अधिकारी हवलदार सिंह ने बताया कि मतदान प्रक्रिया के दौरान चुनाव आयोग की ओर से जारी सभी दिशा निर्देशों का शत प्रतिशत अनुपालन कराया जाएगा। जोनल मजिस्ट्रेट से लेकर मतदान ड्यूटी में लगे सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को कोविड-19 निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन करने और कराने की हिदायत दी गई है। उन्होंने बताया कि मतदान को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। पोलिंग पार्टियां अपने-अपने मतदान केंद्रों पर पहुंच गई हैं।