Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

भारतीय जनता पार्टी केन्द्रीय प्रशिक्षण विभाग द्वारा प्रशिक्षण शिविर का आयोजन हुआ


निघासन खीरी:भारतीय जनता पार्टी निघासन मंडल में केन्द्रीय प्रशिक्षण विभाग द्वारा द्वारा निघासन मंडल का प्रशिक्षण शिविर का आयोजन संसदीय कार्यालय प्रीतम पुरवा निघासन में भाजपा युवा नेता आशीष मिश्रा मोनू की मौजूदगी में सम्पन्न हुआ।यह कार्यक्रम आज पांच सत्रों सत्रों में अलग अलग समय में अलग अलग प्रशिक्षकों के द्वारा प्रशिक्षण दिया जायेगा।सबसे पहले सत्र में भाजपा का इतिहास, दूसरे सत्र हमारा विचार परिवार, के बारे में निघासन मंडल टीम को प्रशिक्षण देते पूर्व जिलामहामंत्री सांसद प्रतिनिधि अरविंद सिंह संजय ने बताया इसके बाद प्रशिक्षण देते हुये पंडित दीनदयाल उपाध्याय के बारे अवगत कराते हुये बताया कि नल डेस्कः पंडित दीनदयाल उपाध्याय एक हिंदुत्ववादी विचारक और भारतीय राजनितिज्ञ थे।


उन्होंने हिन्दू शब्द को धर्म के तौर पर नहीं बल्कि भारतीय संस्कृति के रूप में परिभाषित किया है। पंडित दीनदयाल उपाध्यायआरएसएस से भी जुड़े रहे। इसी के साथ भारतीय जनसंघ के अध्यक्ष भी रहे। उन्होंने राजनीति के अलावा भारतीय साहित्य में भी योगदान दिया। उनके द्वारा सम्राट चन्द्रगुप्त मौर्य व चाणक्य पर आधारित नाटक ‘सम्राट चन्द्रगुप्त’ बहुत पसंद किया गया।श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने ही राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ मदद से भारतीय जन संघ की स्थापना की थी जो बाद में चलकर आज की भारतीय जनता पार्टी के नाम से जानी जाती है। इस दौरान ये भारतीय राजनीति में अहम किरदार निभाते रहे। उन्होंने ‘एकात्म मानववाद’ के आधार पर भारत राष्ट्र की कल्पना की थी जिसमें विभिन्न राज्य की संस्कृतियां आपस में मिलकर एक मजबूत राष्ट्र का निर्माण करें।इसके बाद तीसरे चरण 2014 के बाद भारत की राजनीति में आया बदलाव एवं हमारा दायुत्व के बारे में व चौथे सत्र में आज भारत के भारत की वैचारिक मुख्यधारा हमारी विचार धारा व पांचवें सत्र व्यक्तित्व विकास के बारे में वक्ताओं के बारे में बताया गया।इस दौरान नागेंद्र सिंह सेंगर, कनक पाल सिंह राणा,वीरेंद्र मिश्रा, प्रज्ञानन्द श्रीवास्तव, रतीराम लोधी,हरीश पाण्डेय, गंगाराम जयसवाल, सोबरन चौहान, के के लोधी,विपिन मोर्य,मोहित त्रिवेदी,राहुल निषाद, सोने लाल लोधी,प्रदीप गुप्ता ,जुगेश विश्कर्मा,आयुष पांडेय, के के तिवारी, संजय गिरी,प्रेम प्रकाश लोधी,आदि सैकडों मंडल कार्यक्रता मौजूद रहे