Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

दो समुदायों के बीच हिंसक झड़प, युवक की मौत,कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे पुलिस के आला अफसर


-संडे का रात्रि दोनों समुदायों के बीच लाठी-डंडे के बाद चले ईंट-पत्थर


-कई थानों की फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे पुलिस के आला अफसर


-हिंसक झड़प में कई लोग घायल, पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया


-चकेरी के वाजिदपुर एरिया में तनाव के मद्देनजर भारी पुलिस बल तैनात


ब्यूरो कार्यालय (कानपुर):कानपुर के चकेरी थाना एरिया स्थित जाजमऊ के वाजिदपुर मोहल्ले में जरा सी बात पर दो समुदाय के लोगों की भीड़ आमने-सामने आ गई। जमकर मारपीट करने के बाद दोनों समुदाय के लोगों ने एक दूसरे पर लाठी-डंडे से हमला करने के बाद ईंट और पत्थर भी चलाए। हमले में एक युवक की मौत हो गई। हिंसक संघर्ष में दोनों समुदायों से कई लोगों के घायल होने की खबर है। सभी को पुलिस ने इलाज के ले अस्पताल में भर्ती कराया है। हिंसा के बाद से क्षेत्र में तनाव के हालात को देखते हुए भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है। मुख्यमंत्री ने मामले को संज्ञान में लेते हुए मृत युवक के परिवारीजनों को पांच लाख रुपए की आर्थिक इमदाद दी है। मुख्यमंत्री ने कहा, कट्टरपंथी हमलावरों को किसी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। गिरफ्तार कर सभी के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) के तहत कार्रवाई की जाएगी। पुलिस ने अब तक चार लोगों को गिरफ्तार किया है। लापरवाही बरतने वाले चौकी इंचार्ज अनुराग सिंह को डीआइजी ने सस्पेंड कर दिया।


चकेरी के वाजिदपुर निवासी पिंटू निषाद (25) टेनरी में काम करता था। संडे की रात वह अपने बड़े भाई दीपक और दोस्त संदीप के साथ कहीं जा रहा था। मोहल्ले में पानी के पाउच से छींटे पड़ने को लेकर उसका विवाद हो गया। देखते ही देखते दो समुदायों की भीड़ सामने आ गई। दोनों तरफ से लाठी-डंडे के बाद ईंट और पत्थर चले। पथराव से मोहल्ले में भगदड़ मच गई। हमले में पिन्टू समेत कई लोग घायल हो गए।



सूचना पर पहुंची पुलिस ने पिन्टू समेत सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। पिन्टू के मौत की खबर मोहल्ले में पहुंची तो तनाव बढ़ गया। सोमवार सुबह पोस्टमार्टम के बाद परिजनों और क्षेत्र के लोगों ने पिन्टू के शव को सड़क पर रख जाम लगा दिया। काफी देर तक चले हंगामे के बाद पुलिस की कड़ी सुरक्षा में पिन्टू के शव का अंतिम संस्कार किया गया।


घटनाक्रम में पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर अब तक चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया। अन्य आरोपितों की तलाश में पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं। प्रथम दृष्ट्या लापरवाही सामने आने पर डीआइजी डॉक्टर प्रीतिंदर सिंह ने चौकी इंचार्ज अनुराग सिंह और सिपाही राजवीर सिंह को तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया। तनाव को देखते हुए वाजिदपुर एरिया को छावनी में तब्दील कर दिया गया है


कानपुर की घटना दुर्भाग्यपूर्ण : सीएम


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट कर कहा कि कानपुर नगर में हुई घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। घटना के अपराधी किसी भी कीमत पर बख्शे नहीं जाएंगे। उन्होंने कहा कि मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिजनों के साथ हैं। उन्हें पांच लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है।