Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

जनपद में निर्माण कार्यों को समय से गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराएं कार्यदायी संस्थाएं:जिलाधिकारी 


गोंडा।जिलाधिकारी डाॅ0 नितिन बंसल ने शनिवार को कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यों एवं निर्माण कार्यों की मासक समीक्षा की तथा जिम्मेदार अधिकारियों को उनके विभागों से सम्बन्धित विकासपरक, लाभार्थीपरक एवं जनकल्याणकारी योजनाओं में प्रगति लाने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि वे निर्माण कार्यों में तेजी लाकर समय से निर्माण कार्य गुणवत्ता के साथ पूरा कराएं।


समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य, बेसिक शिक्षा, मनरेगा योजना, फसल बीमा योजना, किसान सम्मान निधि, मिशन कायाकल्प, अमृत योजना, एनआरएलएम, खाद्य एवं रसद विभाग, प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण, मत्स्य पालन, सामूहिक विवाह योजना, वृद्धावस्था, दिव्यांग एवं विधवा पेंशन योजना की स्थिति, शादी अनुदान योजना के लम्बित प्रकरणों, कन्या सुमंगला योजना, गन्ना मूल्य भुगतान, कौशल विकास मिशन, उद्योग विभाग, श्रम विभाग, खाद्य सुरक्षा, सहकारिता, कृषि विभाग सहित अन्य विभागों की प्रगति की समीक्षा की।


     बैठक में जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश दिए कि प्रत्येक दशा में रिक्त सरकारी कोटे की दुकानों का आवंटन शीघ्र कराना सुनिश्चित करें। स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान आयुष्मान योजना के गोल्डेन कार्डों में अपेक्षित प्रगति न आने पर आयुष्मान योजना के तहत काम कर रहे जिला समन्वयक, डिस्ट्रिक्ट ग्रीवान्स मैनेजर तथा डिस्ट्रिक्ट डाटा मैनेजर के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिए हैं। गन्ना मूल्य भुगतान की समीक्षा के दौरान उन्होंने डीसीओ को निर्देश दिए कि गन्ना मूल्य भुगतान में फिसड्डी चीनी मिलों से किसानों का भुगतान शीघ्र सुनिश्चित कराया जाय। उद्योग विभाग की समीक्षा के दौरान लक्ष्य के सापेक्ष कम प्रगति होने पर उपायुक्त उद्योग को निर्देश दिए कि बैंकों के साथ समन्वय बनाकर ज्यादा से ज्यादा लोगों को उद्यम स्थापन के लिए ऋण उपलब्ध कराएं।


    खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने अभिहित अधिकारी को निर्देश दिए कि वे अपर जिलाधिकारी के माध्यम से खाद्य सुरक्षा के लम्बित वादों को निस्तारित कराएं। श्रम विभाग की समीक्षा के दौराना श्रम प्रवर्तन अधिकारी को निर्देश दिए कि पांच वर्ष की पंजीकरण अवधि पूरी करने वाले श्रमिकों की सूची उन्हें उपलब्ध कराई जाय। पशु पालन विभाग की समीक्षा के दौरान उन्होंने मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि अपने पालतू पशुओं को छोड़ने वालों से जुर्माना वसूला जाय। उन्होंने सीवीओ को निर्देश दिए कि कार्यक्रम अधिकारी से समन्वय बनाकर बच्चों में कुपोषण दूर करने हेतु गाभिन गायों को लोगों को दिलाएं।


निर्माण कार्यों की समीक्षा में जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्थावार विभागों मेें कराए जा रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा की। आंगनबाड़ी केन्द्रों के निर्माण, राजकीय हाईस्कूल, विधि विज्ञान प्रयोगशाला, राजकीय पालीटेक्निक, कृषि महाविद्यालय करनैलगंज, वन टांगिया आश्रम पद्धति विद्यालय, कृषि विज्ञान केन्द्रों के निर्माण, प्र्रधानमंत्री आवास योजना शहरी के तहत आवासों के निर्माण की प्रगति, मिशन कायाकल्प योजना के तहत कराए जा रहे निर्माण कार्यों सहित अन्य कार्यों में अपेक्षित प्रगति न आने पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए सम्बन्धित कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए हैं कि वे व्यक्तिगत रूचि लेेकर निर्माण कार्यों को गुणवत्ता के साथ पूर्ण कराएं तथा समय से हैण्डओवर भी कराएं। प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की समीक्षा के दौरान उन्होंने सीडीओ को निर्देश दिए कि वे पाक्षिक रूप से प्र्रगति की समीक्षा करें और उन्हें भी अवगत कराएं। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी से जर्जर स्कूलों के भवनों के ध्वस्तीकरण कार्य की जानकारी ली तथा आख्या उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं।


    बैठक में मुख्य विकास अधिकारी शशांक त्रिपाठी, डीएफओ आरके त्रिपाठी, जिला विकास अधिकारी रजत यादव, जिला पूर्ति अधिकारी वीके महान, डीडी एग्रीकल्चर मुुुकूल तिवारी, जिला समाज कल्याण अधिकारी मोतीलाल, डीपीओ मनोज कुमार, डीसी मनरेगा हरिश्चन्द्र प्रजापति, जिला कृषि अधिकारी जेपी यादव, पीओ डूडा विनोद सिंह, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी डा0 नरेन्द्र कुमार, डीपीआरओ सभाजीत पाण्डेय, एक्सईएन-विद्युत, पीडीब्लूडी व जल निगम, बीएसए डा0 इन्द्रजीत प्रजापति, जिला प्रोबेशन अधिकारी जयदीप सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी तथा कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारी उपस्थित रहे।