Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

कार्तिक पूर्णिमा पर श्रद्धालुओं ने गंगा में लगाई आस्था की डुबकी, सभी घाटों पर सुबह चार बजे से श्रृद्धालुओं की भीड़ जुटी


ब्यूरो कार्यालय (कानपुर):कार्तिक पूर्णिमा पर सोमवार भोर पहर से ही गंगा स्नान के लिए श्रद्धालुओं का सैलाब गंगा तट के घाटों पर उमड़ पड़ा। श्रद्धालुओं ने गंगा में पुण्य की डुबकी लगाने के बाद सूर्य भगवान को गंगाजल से अर्घ्य देकर सुख-समृद्धि की कामना की। कोविड प्रोटोकॉल का पालन करते हुए श्रद्धालुओं ने गंगा स्नान किया। यहां सुरक्षा के लिए तैनात पुलिस बल ने श्रद्धालुओं को मास्क लगाने के लिए पूरे समय जागरूक किया। 


कार्तिक पूर्णिमा पर सरसैया घाट, गंगा बैराज के अटल घाट, परमट घाट समेत विभिन्न घाटों पर श्रद्धालुओं के स्नान के लिए बैरीकेडिंग आदि की तैयारी रविवार शाम को ही पूरी कर ली गई थीं। 


बिठूर में गंगा स्नान के बाद श्रद्धालुओं ने मंदिरों में पूजन किया। गंगा स्नान के लिए भोर पहर से ही श्रद्धालुओं का आना शुरू हो गया था। गंगा में स्नान और ध्यान के बाद लोगों ने दान भी दिया।


कोविड गाइडलाइन का पालन कराने के लिए हर घाट पर पुलिस बल तैनात रहा। नगर पंचायत बिठूर के कर्मचारियों ने चौराहों पर भी बैरीकेडिंग की और चुंगी से शनिदेव चौराहा, ब्लू बर्ड तिराहा, सिंहपुर चौराहा के पास आने वाले वाहनों काे रोक दिया। इसके बाद श्रद्धालु पैदल ही गंगा घाट तक पहुंचते रहे।


कानपुर शहर में अटल घाट, कोयला घाट, भैरोघाट, बाबा घाट, परमट घाट, सरसैया घाट, गोला घाट, भगवत दास घाट, मैस्कर घाट, सिद्धनाथ घाट, ड्योढ़ी घाट पर भी गंगा स्नान के लिए लोग पहुंचते रहे। सुरक्षा व्यवस्था के लिए पुलिस फोर्स के साथ गोताखोर भी लगाए गए।