Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

कथावाचक ने श्रीमद्भागवत के महत्व पर प्रकाश डालते हुए इसे मोक्ष प्राप्त करने का बताया सुलभ तरीका


रामसनेहीघाट,बाराबंकी:असन्द्रा बाजार में आयोजित श्रीमद्भागवत पुराण कथा का शुभारंभ भव्य कलश यात्रा के साथ हो गया।गोमती नदी का जल कलश में भरने के। बाद यात्रा कथास्थल पर आकर समाप्त हो गई।कथा के पहले पायदान पर कथावाचक ने श्रीमद्भागवत के महत्व पर प्रकाश डालते हुए इसे मोक्ष प्राप्त करने का सुलभ तरीका बताया।


  कलश शोभायात्रा गोमती नदी में जल लेने के बाद विभिन्न मंदिरों पर होती हुयी असंद्रा बाजार से पहुंची।कलशयात्रा में महिलाओं के साथ ही क्षेत्र के तमाम गणमान्य लोगों ने भागीदारी निभाई और चित्रकूट धाम से पधारे कथा मर्मज्ञ आचार्य श्री राम जी पांडेय ने इस शोभायात्रा की अगुवाई की। कलश यात्रा का गुरुतर दायित्व असंद्रा बाजार निवासी नीरज गुप्ता, डॉ पंकज गुप्ता, संजय गुप्ता ने सपरिवार निभाया।


         चित्रकूटधाम से पधारे कथाकार आचार्य राम जी पाण्डेय ने कथा का शुभारंभ करते हुए कहा कि मन को एकाग्र कर जीवन जीने की कला सिखाने वाली पावन पुराण की कथा सुनने मात्र से मनुष्य ही नहीं प्रेतात्माओं को भी मोक्ष मिल जाता है।उन्होंने कहा कि भागवत कथा सभी पापों को समूल नष्ट करने का एक दैविक साधन है जो मनुष्य को उसके सत कर्मों की ओर उद्य्यत करती है तथा जीवन में रहन-सहन के ढंग को परिमार्जित करती है। प्रत्येक मनुष्य को अपने जीवन में इस पुराण का श्रवण अवश्य करना चाहिए क्योंकि कथा सुख और समृद्धि प्रदान करने वाली है।


   इस अवसर पर गोमती प्रसाद मिश्र, आशीर्वाद सोनी, संतोष सोनी, प्रेमचंद सोनी, प्रधान मोहम्मद अकील ज़ैदी ,विजय तिवारी मल्हू भैया आदि मौजूद थे।