Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

कृष्ण जन्म के प्रसंग शुरू होते ही पांडाल में मौजूद श्रद्धालु नंद के घर आनंद भया जय कन्हैया लाल की भजनों के साथ झूम उठे

शुकुल बाजार। अमेठी। क्षेत्र के अन्दीपुर गांव में चल रही श्रीमद् भागवत कथा के चौथे दिन भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया। कृष्ण जन्म के प्रसंग शुरू होते ही पांडाल में मौजूद श्रद्धालु नंद के घर आनंद भया जय कन्हैया लाल की भजनों के साथ झूम उठे। वहीं श्रद्धालुओं ने आतिशबाजी कर मक्खन मिश्री के प्रसाद का भोग लगाकर वितरित किया। पंडित संकटानंद आचार्य ने कहा कि जीवन में जब भी भगवत नाम सुनने का अवसर प्राप्त हो, उससे विमुख नहीं होना चाहिए।


भागवत महापुराण के विभिन्न प्रसंगों का वर्णन करते हुए बताया कि जब जब धरती पर अधर्म बढ़ता है, तब तब परमात्मा अवतार धारण करके धरती पर धर्म की स्थापना करते हैं। पंडित संकटानंद आचार्य ने कृष्ण जन्म की कथा के पूर्व भगवान राम के अवतार की लीला का वर्णन किया। उन्होंने कहा कि भगवान राम ने आदर्श स्थापित किया है, वह आज भी प्रासंगिक है। राम जन्म, ताड़का वध, राम विवाह, वनवास, रावण वध सहित राम राज्याभिषेक पर सुन्दर व्याख्यान दिया। उन्होंने कहा कि द्वापर में जब कंस के अत्याचार बढ़े तो श्रीकृष्ण ने अवतार लेकर मुक्ति दिलाई। इस अवसर पर रामसुंदर शुक्ल , श्यामसुंदर शुक्ल ,चंद्र भूषण शुक्ल, अनिल शुक्ल , देवानंद शुक्ल, अखिलेश शुक्ल ,उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के जिला उपाध्यक्ष मुकेश शुक्ला व शुकुल बाजार अध्यक्ष संदीप शुक्ला वीरपाल यादव , प्रधान राज कुमार चौहान समेत दर्जनों श्रोता उपस्थित रहे।