Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

राष्ट्रीय विधिक सेवा दिवस पर जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा दी गई विधिक जानकारी


श्रावस्ती। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण लखनऊ के निर्देशानुसार तथा अध्यक्ष जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्रावस्ती साकेत बिहारी के तत्वाधान मे सोमवार को विधिक सेवा दिवस के रूप मे मनाते हुए शिविर मे उपस्थित लोगो को कानून की जानकारी दी गयी। साथ ही लोगो को सुलभ कानूनी न्याय के प्रति जागरूक किया गया। कार्यक्रम में प्रभारी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण/सिविल जज, प्रवर खंड श्रावस्ती के जयहिंद कुमार सिंह द्वारा बताया गया कि सभी नागरिकों के लिए उचित निष्पक्ष और न्याय प्रक्रिया सुनिश्चित करने हेतु जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से नौ नवम्बर को राष्ट्रीय विधिक सेवा दिवस मनाया जाता है।


राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण दिवस की शुरूआत पहली बार वर्ष 1995 में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा समाज के गरीब और कमजोर वर्गो को सहायता और समर्थन प्रदान करने के लिए की गयी थी। निःशुल्क विधिक सेवाएं राष्ट्रीय, राज्य, जिला एवं तालुका स्तर पर सर्वोच्च न्यायालय व उच्च न्यायालय द्वारा की जाती है। विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम 1987 के अंर्तगत समाज के कमजोर वर्गो को निःशुल्क कानूनी सेवाएं प्रदान करने के लिए और विवादों के सौहार्द पूर्ण समाधान के उद्येश्य से किया गया है। उक्त कार्यक्रम में प्रभात सिंह सिविल जज अवर खंड, आशुतोष पाठक, राकेश कुमार श्रावस्ती, पीयूष कृष्ण मिश्रा, दयाराम, ब्रम्हवादिनी शुक्ला, अफरोज, फातिमा, राकेश चैहान, उमाशंकर भार्गव, संजय, सुशील मिश्रा, शंभू यादव, दीप चन्द्र सरोज आदि लोग उपस्थित रहे।