Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

जमुनीपुर कांड में 72 घंटे बाद तीन गिरफ्तार, मामूली विवाद के बाद दो पक्षों में हुआ था खूनी संघर्ष



अयोध्या। जनपद के गोसाईगंज थाना क्षेत्र में मामूली विवाद के बाद क्षेत्र के जमुनीपुर गांव में शुक्रवार की शाम दो पक्षों के बीच खूनी संघर्ष में उपचार के दौरान बुजुर्ग महिला की मौत मामले में पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार किया है। संघर्ष में 6 लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे। जिसमें घायल बुजुर्ग महिला की उपचार के दौरान जिला अस्पताल में मौत हो गई थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने 11 लोगों को हिरासत में लिया था। प्रकरण में मृतक महिला के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने हत्या, मारपीट, बलवा आदि धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया था। मंगलवार को पुलिस ने तीनों की गिरफ्तारी उनके घर से ही दिखाई है।

      थाना क्षेत्र के जमुनीपुर गांव स्थित एक दुकान पर युवराज चौहान तथा अब्दुल मन्नान के पुत्रों के बीच शुक्रवार को किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। दोनों पक्षों में पुरानी रंजिश होने के चलते मामले ने तूल पकड़ लिया था और देर शाम लगभग 6:00 बजे दोनों पक्ष लाठी डंडा आदि से लैस होकर आमने-सामने आ गए थे। दोनों पक्षों में जमकर खूनी संघर्ष हुआ था,जिसमें गंभीर रूप से घायल 54 वर्षीय प्रेमा देवी पत्नी पुजारी प्रधान कि सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से जिला अस्पताल रेफर किए जाने के बाद उपचार के दौरान मौत हो गई थी।मृतका के पुत्र चंदन चौहान के तहरीर पर पुलिस ने अब्दुल्ला सहित सात लोगों के खिलाफ हत्या सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया था। मामला दो संप्रदाय से जुड़ा होने के चलते कानून व्यवस्था को लेकर गांव में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई थी।

मंगलवार को अपर पुलिस अधीक्षक देहात एसके सिंह ने बताया कि मामले की विवेचना कर रही गोसाईगंज पुलिस को तीन लोगों की वारदात में सीधी संलिप्तल्पता मिली है। पुलिस ने पुलिस उपमहानिरीक्षक / वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर अपराध और अपराधियों पर प्रभावी नियंत्रण को लेकर चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत गोसाईगंज थाना पुलिस ने जमुनीपुर गांव निवासी सगे भाइयों मोहम्मद इकबाल और नूर उल हक तथा अब्दुल वफा उर्फ पप्पू को उनके घर से मंगलवार को गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस ने तीन डंडा बरामद किया है। पुलिस ने पकड़े गए आरोपियों का पहले से दर्ज हत्या, मारपीट, बलवा के मुकदमे में चालान किया है।