Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

दो सगे भाई बने दूल्हा, एक दुल्हन लेकर लौटा तो दूसरा लाश, जानें पूरी दास्तान......



राजस्थान में एकतरफा इश्क में तीन युवकों ने फिल्मी अंदाज में बड़ी वारदात को अंजाम दिया। दुल्हन को विदा करके ला रहे दूल्हे की कार पर फायरिंग करते हुए धावा बोल दिया। वारदात में एक गोली दूल्हे की कनपटी के पास से निकली है। इसमें वह गंभीर घायल हो गया। वहीं दुल्हन को भी छर्रे लगे हैं।जानकारी के मुताबिक, झुंझुनूं के दो भाई की बारात नीमकाथाना के हेमराजपुरा गांव में आई थी। शुक्रवार रात को यहां दो सगी बहनों के साथ दोनों भाइयों ने सात फेरे लिए। सुबह दोनों अलग-अलग कार में दुल्हनों को लेकर लौट रहे थे।स्टेट हाइवे पर कार आते ही बाइक सवार तीन युवकों ने एक कार का पीछा करना शुरू कर दिया। दो बार ओवरटेक भी किया, लेकिन चालक ने कार नहीं रोकी। इसके बाद बदमाशों ने कार के आगे बाइक लगा दी। कार के रुकते ही एक बदमाश ने सामने से देशी कट‌्टा से दो फायर किए। इसमें एक गोली दूल्हा संजू के कनपटी को घायल करते हुए निकल गई। वहीं दुल्हन कोमल के भी छर्रे लगे हैं। वारदात को अंजाम देने के बाद तीनों युवक मौके से भाग गए।वारदात के बाद पुलिस मौके पर पहुंचीं। आसपास के लोगों से पूछताछ की तो पता चला कि इंद्राज गुर्जर और कालू सैनी नाम के दो युवकों के एक अन्य ने दूल्हे पर हमला किया है। पुलिस को पता चला कि बदमाश बारांधूणी मंदिर इलाके में छिपे हैं। इसके बाद थानाप्रभारी नरेंद्र पुलिस फोर्स के साथ आरोपियों को गिरफ्तार करने पहुंच गए। इस दौरान बदमाशों ने फायरिंग कर दी, इसमें नरेंद्र सिंह बाल-बाल बच गए। जवाबी कार्रवाई में बदमाश इंद्राज गुर्जर के पैर में गोली लगी। वहीं कालू को भी पुलिस ने पकड़ लिया। जबकि तीसरा आरोपी अभी फरार है। हालत गंभीर होने पर पुलिस ने दूल्हा-दुल्हन और बदमाश को जयपुर रेफर कर दिया।शुरुआती जांच में पता चला कि हमलावर में से एक दुल्हन से एकतरफा इश्क करता था। उसकी शादी को लेकर लड़की के परिवार वालों को धमका चुका था। जब उसकी धमकियों का कोई असर नहीं हुआ तो उसने दूल्हे को मारने की ठान ली। इसके लिए उसने अपने दो साथियों के साथ बीच राह कार को रुकवाकर उसमें सवार दूल्हे पर देशी कट्‌टे से दो फायर किए। 

फिलहाल, अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि हमलावरों में वह युवक कौन है। पुलिस ने बताया कि हमला करने वाले बदमाश दुल्हन के गांव हेमराजपुरा के नजदीकी गांव के हैं। विदाई के समय से ही वह कार से पीछा कर रहे थे। शुरुआत में लूट के लिए वारदात करने की बात सामने आई थी। क्योंकि, कार में ही विदाई के वक्त दिए पांच लाख रुपए भी थे।