Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

पुलिस ने जियो कम्पनी के सर्वर से डकैती/ लूटपाट करने वाले अन्तर्राष्ट्रीय डकैती/ लूट गिरोह के दस बदमाशों को किया गिरफ्तार



जनपद में अपराध एवं आपराधिक गतिविधियों की रोकथाम हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इटावा श्री आकाश तोमर द्वारा चलाये जा रहे अभियान के क्रम एवं अपर पुलिस अधीक्षक नगर एवं अपराध इटावा के मार्गदर्शन तथा क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व में एसओजी/ सर्विलांस टीम व थाना सिविल लाइन पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा दिनांक 05/06.12.2020 की रात्रि को जियो कम्पनी के सर्वर से लूट करने वाले अन्तर्राष्ट्रीय डकैती/ लूट गिरोह के 10 बदमाशों को जियो सर्वर के उपकरणों ( प्रोसेसिंग कार्ड, लाइन कार्ड, आरएसपी कार्ड) लगभग 03 करोड रूपये कीमत सहित किया गिरफ्तार*


घटना का संक्षिप्त विवरण –


दिनांक 05/06.12.2020 की रात्रि को यूपी 112 पर थाना सिविल लाइन क्षेत्रान्तर्गत जिओ कंम्पनी के सर्वर रूम से सिक्योरिटी गार्ड को बांधकर लूटपाट कर उपकरणों को ले जाने के संबंध में सूचना प्रसारित की गई थी सूचना के आधार पर यूपी 112 पीआरवी, उच्चाधिकारी, एसओजी टीम एवं थाना सिविल लाइन पुलिस द्वारा तत्काल घटनास्थल पर पहुंचकर घटना के संबंध में जांच पडताल की गई । जांचोपरांत उक्त घटना के संबंध में वादी की तहरीर के आधार पर थाना सिविल लाइन पर मु0अ0सं0 449/20 धारा 395,412,120बी,34 भादवि बनाम अज्ञात अभियोग पंजीकृत किया गया था । 

उक्त घटना की गंभीरता को देखते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक इटावा द्वारा अपर पुलिस अधीक्षक नगर एवं अपराध तथा क्षेत्राधिकारी नगर के नेतृत्व में कई टीमों का गठन कर घटना के जल्द से जल्द अनावरण हेतु निर्देशित किया गया था । जिसके क्रम में उक्त टीमों द्वारा अपने मुखबिर को सक्रिय किया गया, अथक परिश्रम करते हुए कई जगहों पर दबिश एवं सुरागरसी एवं पतारसी की गई इस तरह की समान घटनाओं के बारे में प्रदेश के अन्य जनपदों एवं अन्य राज्यों से भी जानकारियां जुटाई गयी । जिसके फलस्वरूप पुलिस टीमों को अत्यंत महत्वपूर्ण तथ्य संज्ञान में आये । उन तथ्यों को एसओजी/ सर्विलांस टीम एवं थाना सिविल लाइन पुलिस टीम द्वारा अपने सूचना तंत्र के माध्यम से और अधिक विकसित किया गया । अभियुक्तों की गिरफ्तारी एवं लूटे गये माल की बरामदगी हेतु निरंतर कार्यवाही की जा रही थी ।

दिनांक 30.12.2020 को सफलता प्राप्त करते हुए पुलिस टीम द्वारा मुखबिर की सूचना के आधार पर एक अभियुक्त पुष्पेन्द्र पुत्र राजवीर चाहर निवासी ग्राम मलहू थाना मगोर्रा जनपद मथुरा को डींग राजस्थान से गिरफ्तार किया गया । 

पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार किये गये अभियुक्त से पूछताछ करने पर प्राप्त सूचना के आधार पर व अभियुक्त की निशानदेही पर 08 अन्य अभियुक्तों को संदिग्ध व्यक्ति/ वाहन चैकिंग के दौरान एनएच2 पर स्थित डीपीएस स्कूल के पास से समय करीब 05.35 बजे दो गाडियों से गिरफ्तार किया गया । 

  पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार अभियुक्तों की तलाशी लेने पर उनके कब्जे से अवैध असलहा बरामद किये गये । पुलिस टीम द्वारा असलहों के लाइसेंस तलब करने पर अभियुक्त लाइसेंस दिखाने में असमर्थ रहे साथ ही पुलिस टीम द्वारा पकडी गई गाडियों की तलाशी लेने पर उनमें से जियो कम्पनी के सर्वर के भारी मात्रा में लूटे हुए उपकरण बरामद किये गये । पुलिस टीम द्वारा सर्वर/ टावरों के उपकरणों के संबंध में कडाई से पूछताछ करने पर अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि हमारा गैंग मोबाइल कम्पनियो के सर्वर रुमों की रेकी कर सर्वर/ टावरों के उपकरणों की लूट का काम करते है । अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि बरामद उपकरणों में से कुछ उपकरण हम लोगों ने दिनांक 05/06.12.2020 की रात्रि को थाना सिविल लाइन क्षेत्रान्तर्गत जियो सर्वर/ टावर के सिक्योरिटी गार्ड़ को बांधकर लूटपाट की गई थी 

 इसमें से कुछ उपकरण हम लोगों ने दिनांक 06/07.11.2020 की रात्रि को जनपद आगरा में जियो सर्वर/ टावर के एक्सचेंज से लूटा था तथा गार्ड को रूनकता के पास फेंक दिया था एवं कुछ अन्य माल हम लोगों ने अन्य स्थानों से लूटा था एवं उक्त लूट के माल को हम लोग देश के विभिन्न शहरों दिल्ली, बंगलुरू, लखनऊ एंव भारत से बाहर यूके व यूएसए में बेचते है तथा लूट के माल को बेचकर जो पैसे मिलते है उसे हम लोग काम के हिसाब से आपस में बांट लेते है । पुलिस द्वारा की गई जानकारी के अनुसार उक्त अभियुक्तों के अकाउंटों में विदेशो से भी कई करोडों रूपये के ट्रांन्जेक्सन पाये गये है । 

अभियुक्तों ने पूछताछ में बताया कि हमारे गिरोह का मुख्य सरगना राजेश पाल है जो सरिता बिहार नई दिल्ली में कृष्णा एयर एक्सप्रेस नाम से कोरियर कम्पनी चलाता है जिसके माध्यम से हम लोग उपरोक्त प्रकार के माल को भारत के विभिन्न शहरों तथा भारत के बाहर विदेशों में भेजते हैं तथा पे पाल के माध्यम से पैसों का लेनदेन करते हैं अभियुक्त चंदन ने बताया कि मैं पूर्व में वोडाफोन कंपनी में नौकरी कर चुका है तथा वर्ष 2016 में जनपद मेरठ से इसी तरह सर्वर उपकरण लूट में जेल जा चुका हूं । मेरा एक साथी रमेश जोकि उत्तराखंड में जियो कंपनी में एजीएम है जो हमें इन सर्वर रूमों की लोकेशन उपलब्ध कराता है जिसे हम राजेश तथा गिरोह के अन्य सदस्यों को देते हैं जिसकी वह पूर्व में रेकी करके वहां पर नौकरी करने वाले सिक्योरिटी गार्ड से दोस्ती करके या प्रलोभन देकर चोरी/ लूट करने का प्रयास करते है । 

अभियुक्त चंदन ने यह भी बताया कि इस तरह का काम हम लोग पिछले कई सालों से करते आ रहे हैं तथा लूटे हुए माल को भारत में तथा भारत के बाहर विदेशों में शिपिंग के माध्यम से दलालों को भेजते हैं तथा रूपयों का लेनदेन पे- पाल गेटवे के माध्यम से करते हैं पैसा आने पर गिरोह के अन्य सदस्यों को सरगना राजेश पाल द्वारा काम के अनुसार बांट दिया जाता है । 

उक्त घटना से यह तथ्य भी प्रकाश में आये है कि मुख्य सरगना द्वारा सभी लोगों को कार्य का वितरण उनके विशेषता के अनुसार बांटा जाता था जिसके कारण यह अभियुक्त अभी तक पुलिस की गिरफ्त में आने से बचे रहे । 

इटावा तथा आगरा से लूटे गये जियो कम्पनी के कार्डो में से 06 आरएसपी/ लाइन कार्ड हम लोगों ने विदेशों में स्थित अपने दलालों के माध्यम से बेच दिये तथा पैसा आपस में बांट लिया एवं शेष माल व अन्य जगह से लूटे हुए माल को पूर्व योजना के अनुसार बेचने के लिए लखनऊ जा रहे थे जहां पर बंगलुरू से माल खरीदने वाले कुछ व्यक्ति आ रहे थे । बदमाशों से मिले अन्य सामान के बारे में भी इटावा पुलिस द्वारा विभिन्न जनपदो एवं राज्यों से जानकारी की जा रही है । 

विस्तृत पूछताछ में सम्पूर्ण प्रकरण में सिक्योरिटी गार्ड की भी मिलीभगत प्रकाश में आयी है जिसके आधार पर सिक्योरिटी गार्ड की भी गिरफ्तारी की गई है ।