Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

घटना के पांच माह बाद भी पीड़ित को इंसाफ नहीं, 26 अगस्त को साइबर अपराधियों ने चोरी किया था वीआईपी सिम


उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश में तमाम थाने और चौकियों का निर्माण कराकर, एवं पुलिस कर्मियों का प्रमोशन कराकर, और पुलिस को तमाम सुविधाएं देकर जनता का विश्वास जीतने में लगे हैंI तो वहीं दूसरी ओर कुछ पुलिसकर्मियों की वजह से जनता का विश्वास पुलिस प्रशासन से उठ गया हैI ऐसा ही एक मामला मुरादाबाद के थाना पाकबडा में सामने आया है जहां पर युवक ने पुलिस पर जातीय भेदभाव का आरोप लगाया हैI घटना सामाजिक संस्था अन्जू वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष प्रेम सागर के साथ घटी हैI प्रेम सागर का कहना है कि 26 अगस्त को उनका आइडिया कंपनी का नंबर 9012490124 जो वह पिछले सात साल से चला रहे थेI साइबर अपराधियों ने धोखाधड़ी कर चोरी कर लियाI प्रेम सागर का यह नंबर गैस कनेक्शन, आधार कार्ड, संस्था के दस्तावेजों, मित्र एवं रिश्तेदारों, डिजिटल वॉलेट, एवं बैंक अकाउंट में अंकित हैI 



गनीमत यह रही साइबर अपराधी बैंक से रुपए निकालने में असमर्थ रहेI साइबर अपराधी इस सिम को तब से अब तक खुलेआम चला रहे हैं और पीड़ित न्याय के लिए कभी कप्तान, तो कभी साइबर सेल, कभी साइबर थाना, तो कभी थाना पुलिस के चक्कर लगा लगा कर परेशान हैंI युवक का कहना है कि पुलिस अपराधी को शिनाख्त होने के बाद भी नहीं पकड़ रही हैI युवक का कहना है कि आखिर पांच माह से ज्यादा का समय बीत गया है और पुलिस सब कुछ जानते हुए भी मुझे इंसाफ क्यों नहीं दिला रही हैI प्रेम सागर ने बताया कि साइबर अपराधी वीआईपी नंबरों को चोरी कर महंगे दामों में बेचते हैंI अगर पुलिस इन साइबर अपराधियों तक पहुंचती है तो पुलिस के हाथ बहुत कुछ लग सकता है