Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

पटरी कटने से सैकड़ों बीघा फसल जलमग्न,ग्रमीणों ने सिंचाई विभाग पर लगाया लापरवाही का आरोप


कासगंज । कस्बे के सहावर रोड स्थित बनूपुरा व हरथरा गांव को जाने वाले मार्ग पर स्थित रजबहा की पटरी कट जाने से सैकड़ो बीघा फसल जलमग्न हो गई । रजबहा में बुधवार को अचानक पानी आ गया। सिल्ट और कचरे से भरा रजबहा देखते ही देखते उफन आया। खंदी भी कट गई। जिससे किसानों को काफी नुकसान हो गया। गुरुवार रात को अचानक बनूपुरा और हरथरा गांव को जाने वाले रजबहा की पटरी कटते ही किनारे के खेतों में पानी भर गया और खड़ी फसले पानी में डूब गयी। दो गांवों की सैकड़ों बीघा फसल जलमग्न हो गई। सुबह होते ही लोगों ने खेतों का यह नजारा देखा तो उनकी आंखे खुली की खुली रह गई। दूर तक खेतों में पानी ही पानी नजर आ रहा था। रजबहा की खन्दी कटने की सूचना पर तमाम किसान खेतों की ओर दौड़ लिए। डूबी फसलों को सड़ने से बचाने के लिए परेशान किसान पंपसेट लगाकर खेतों से पानी निकालते और रजबहा किनारे मिट्टी डालते हुए देखे गए। ग्रामीणों ने रजबहा कटने की जानकारी नहर विभाग को दी, लेकिन शुक्रवार की शाम तक कोई भी कर्मचारी मौके पर नहीं पहुंचा। जिस कारण आलू, सरसों और गेंहू की फसल बर्बाद हो गई। तमाम प्रयास करने के बाद भी दर्जनों किसानों की कई बीघा फसल चौपट हो गई। रजबहा की पटरी कटने से शेलेन्द्र,राजकुमार पांडेय, जयप्रकाश, सत्यप्रकाश, रामदत्त, प्रेमचंद, उदयवीर, लाला मुन्शी, ग्रीस चन्द्र, कोमल, आलोक पांडेय, मोनू गुप्ता, मुलायम सिंह यादव, राकेश यादव, अशोक कुमार, वीपी, आदि की फसल पानी में डूब गई। ग्रामीणों ने मुआवजे की मांग की है।