Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

नारी उत्थान ही मेरे जीवन का उद्देश्य : कौशल्या नौटियाल

 


नारी उत्थान ही मेरे जीवन का उद्देश्य : कौशल्या नौटियाल

10 ब्लॉक, 6 जनपद एवं 2 प्रदेशो मे टीम सक्रिय

7 वर्षों से लगातार कर रही हैं नारी उत्थान के कार्य

 मुरादाबाद : सरकार बेटियों को पढ़ाने और उन्हें शिक्षित करने के लिए बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान के साथ-साथ तमाम अभियान इसलिए चलाती है क्योंकि जब एक बेटी पढ़ती है तो वह समाज के साथ-साथ एक पीढ़ी को जागरुक करती हैI आज हम आपको एक ऐसी ही बेटी कोशल्या नौटियाल के बारे में बता रहे हैं जो उत्तराखंड के टिहरी गढ़वाल के छोटे से गांव हाथी बूढ़ा केदार से निकलकर आज 10 ब्लॉक 6 जनपद एवं 2 प्रदेशों में अपने दम पर महिला उत्थान के कार्य कर रही हैंI कौशल्या नौटियाल सामाजिक संस्था सूर्योदय फाउंडेशन के साथ जुड़कर पिछले 7 वर्षों से अपनी पारिवारिक जिम्मेदारी एवं अपने बच्चों को शिक्षित करने के साथ-साथ बालिकाओं के लिए निशुल्क शिक्षा, निशुल्क चिकित्सा, एवं निशुल्क कानूनी सहायता देकर महिलाओ को आत्मनिर्भर बनने की प्रेरणा दे रही हैं


कौशल्या नौटियाल अपनी टीम के साथ क्षेत्र के तमाम बालिका विद्यालयो में जाकर बालिकाओं को जागरूक कर रही हैंI कौशल्या नौटियाल ने अपने दम पर मुरादाबाद में संस्था का क्षेत्रीय कार्यालय बनाया एवं उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश के साथ-साथ जनपद मुरादाबाद, उन्नाव, इलाहाबाद, लखनऊ, हरदोई, एवं रामपुर जनपदों में अपनी टीम खड़ी की जो मुरादाबाद, कुंदरकी, बिलारी, भगतपुर, मुंडापांडे, छजलैट, ठाकुरद्वारा, डिलारी ब्लॉक में नारी उत्थान के कार्य कर रही हैंI कौशल्या नौटियाल ने प्रत्येक ब्लॉक पर अपने 6 वॉलिंटियर नियुक्त किए हैं जो गांव गांव जाकर महिला जागरूकता के तमाम कार्य कर रहे हैंI