Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन के कार्यालय पर मनाया गया जल दिवस




कासगंज / गंजडुंडवारा । विश्व जल दिवस का आयोजन अखिल भारतीय मीडिया फाउंडेशन के कार्यालय पर किया गया।कार्यक्रम में पंकज सिंह फौजी ने जल बचाने के विषय में बताया कि आज से कुछ सालों पहले तक यह स्थिति हुआ करती थी कि छोटे- छोटे गांवों में नदी, नहर और तालाब दिखाई पड़ते थे। अतिवृष्टि होने पर गांव के गांव जलमग्न हो जाया करते थे। आज स्थिति यह है कि धीरे-धीरे सारे ताल-तलैया सूखते जा रहे हैं। ओमप्रकाश जी ने कहा कि यह तो बात हुई उस देश की जहां हम निवास करते हैं, जहां पीने योग्य जल की उपलब्धता है। विश्व में कई सारे देश ऐसे हैं, जहां पीने का स्वच्छ जल न होने के कारण लोग जीवन त्याग देते हैं। स्वच्छ जल के संरक्षण के लिए और इस समस्या का समाधान खोजने के लिए ही 22 मार्च को विश्व जल दिवस मनाने का निर्णय लिया गया। जिलाध्यक्ष अनिल राठौर ने कहा कि पर्यावरण और विकास संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन ने 1992 में पीने के पानी के अस्तित्व को लेकर एक अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाने का फैसला किया और इस तरह 22 मार्च 1993 को पहला विश्व जल दिवस मनाया गया। इसके बाद जल संरक्षण को लेकर संपूर्ण विश्व में कई तरह की योजनाएं बनाई गईं। हर साल एक विषय पर विश्व के बौद्धिक लोग काम करना शुरू करते हैं ताकि आने वाली पीढियों के लिए पीने योग्य पानी बचाया जा सके। इस अवसर पर प्रतीक अग्रवाल, अजय कुमार शाक्य,कृतज्ञ यशोलिया, राजन सक्सेना, धर्मेंद्र कुमार, सत्यप्रकाश राठौर,डॉ अर्चना जायसवाल, मुकेष अग्रवाल सहित समस्त पदाधिकारी उपस्थित रहे।