Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

भाजपा सत्ता हासिल करने के लिए करती है नकारात्मक विघटनकारी नफरत व विद्वेष की राजनीति:-आरिफ हबीब



जौनपुर। भाजपा द्वारा नकारात्मक विघटनकारी विद्वेष की राजनीति करने से देश व प्रदेश में विकास, भ्रष्टाचार ,अपराध ,महंगाई, स्वास्थ्य, शिक्षा, रक्षा ,सुरक्षा कृषि और अन्य जनोपयोगी मुद्दे पीछे छूट जाते हैं। ऐसी परिस्थिति में देश एवं प्रदेश में नफरत का माहौल पैदा होने लगा उसी का परिणाम है कि मंदिर में पानी पीने के लिए गए हुए बच्चे के साथ जघन्य घटना होती है यह सब भारतीय जनता पार्टी सिर्फ और सिर्फ सत्ता हासिल करने के लिए करती है। आज इस तरह के नकारात्मक मुद्दे देश में राजनीतिक अस्थिरता पैदा कर रहे हैं। ऐसा माहौल बना दिया गया है कि जनउपयोगी मुद्दों को डिबेट व चर्चा का विषय नहीं बनाया जाता है। उक्त बातें समाजवादी पार्टी के नेता सयुस के पूर्व प्रदेश सचिव आरिफ हबीब ने कही है। श्री हबीब ने कहा कि इस तरह की नकारात्मक राजनीति से लोकतंत्र को जबरदस्त खतरा उत्पन्न हो रहा है, उन्होंने आगे कहा कि चुनाव में इस तरह के नकारात्मक मुद्दों को चुनाव आयोग को गंभीर संज्ञान लेना चाहिए लेकिन चुनाव आयोग भी इन मुद्दों पर चुप्पी साधे हुए है। ऐसी परिस्थिति बना दी गई है कि बड़े-बड़े देश के राजनेताओं मुख्यमंत्रियों केंद्रीय नेताओं को अपने आप को हनुमान भक्त राम भक्त और अपना गोत्र बताने पर विवश होना पड़ रहा है, निश्चित रूप से इस तरह का माहौल संविधान और लोकतंत्र विरोधी है इस पर सुप्रीम कोर्ट और चुनाव आयोग दोनों को संज्ञान लेना चाहिए मैं निवेदन भी करता हूं महामहिम राष्ट्रपति महोदय से माननीय उच्चतम न्यायालय से एवं चुनाव आयोग के प्रमुख से इन मुद्दों को उठाने वालों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। इस तरह के मुद्दे बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के संविधान के विपरीत हैं, क्या इस तरह की बातें करके हम किसी भी प्रदेश में समता, समानता, स्वतंत्रता और न्याय की उम्मीद कर सकते हैं? नहीं इसलिए मेरी गुजारिश है कि स्वस्थ एवं सकारात्मक मुद्दों के साथ सभी दलों को राजनीति करना चाहिए, विशेषकर चुनाव में जनता से जुड़े हुए मुद्दों को ही उठाना चाहिए,इन्हीं मुद्दों के आधार पर लोगों से वोट मांगने चाहिए। श्री हबीब ने आशा व्यक्त की है कि आने वाले दिनों में राजनीतिक दल इस तरह के मुद्दों से अपने आप को दूर रखेंगे और एक स्वस्थ सकारात्मक माहौल और वातावरण बनाने में अपनी सक्रिय व सकारात्मक भूमिका निभाएंगे।