Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष संजय खोखर की गोली मारकर हत्या की घटना में दो गिरफ्तार


जनपद बागपत में थाना छपरौली क्षेत्रान्तर्गत बीजेपी के पूर्व जिलाध्यक्ष संजय खोखर की गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस सम्बन्ध में मृतक संजय खोखर के पुत्र मनीष की लिखित तहरीर के आधार पर थाना छपरौली पर मु0अ0सं0 253/2020 धारा 147, 148, 149, 302, 120बी भादवि बनाम 1-नितिन धनकड पुत्र संजय निवासी कस्बा व थाना छपरौली 2-मयंक डालर पुत्र बबलू निवासी ग्राम ककौर 3-विपिन पुत्र रविन्द्र 4-अंकुश शर्मा पुत्र इन्द्रपाल निवासी ग्राम हेवा थाना छपरौली जनपद बागपत व दो-तीन व्यक्ति अज्ञात के विरूद्व पंजीकृत किया गया था। 


 


पुलिस द्वारा की गयी कार्यवाही


 


 पुलिस अधीक्षक, बागपत के निर्देशन, अपर पुलिस अधीक्षक महोदय एवं क्षेत्राधिकारी बडौत के नेतृत्व में थाना छपरौली पुलिस व एसओजी टीम द्वारा संयुक्त आॅपरेशन से आज दिनांक 24.08.2020 को सुबह समय करीब 09ः00 बजे मुखबिर की सूचना पर रठौडा नहर पुलिया से संजय खोखर पूर्व जिलाध्यक्ष बीजेपी की हत्या की घटना में संलिप्त अभियुक्त 1-संजीव खोखर पुत्र सोहनपाल निवासी मौ0 पटटी धनधान कस्बा व थाना छपरौली 2-श्रवण खोखर पुत्र रणधोल निवासी कस्बा व थाना बडौत जनपद बागपत को गिरफ्तार किया गया है। अभियुक्त श्रवण के कब्जे से घटना में प्रयुक्त आलाकत्ल एक तमंचा 315 बोर मय 02 जिंदा कारतूस नाजायज बरामद किया गया है। अभियुक्तों के विरूद्व थाना छपरौली पर विधिक कार्यवाही की जा रही है। 


 


 पूछताछ में प्रकाश में आये तथ्य


 


पूछताछ से यह ज्ञात हुआ कि अभियुक्त श्रवण खोखर संजीव खोखर का सगा भतीजा है। अभियुक्त संजीव खोखर व श्रवण खोखर ने पूछताछ पर बताया कि संजीव खोखर के भाई रणधोल की पत्नी सुशीला खोखर वर्ष 2006 से 2011 तक छपरौली नगर पालिका की चेयरमेन रही थी। इसके बाद से पूर्व जिलाध्यक्ष बीजेपी संजय खोखर के समर्थन से इनके परिवार/खानदान के लोग ही चेयरमेन बनते चले आ रहे है। संजय खोखर की वजह से ही संजीव खोखर के परिवार वालों को चेयरमेन पद नही मिल पा रहा था। इसमें संजय खोखर बडी बाधा बन रहे थे। संजीव खोखर के पास सागर वालियान जो इसका दूर का रिशतेदार है रहता था। संजीव खोखर ने यह भी बताया कि 04 वर्ष पूर्व जब संजय खोखर जिलाध्यक्ष थे, तब संजीव खोखर का झगडा संजय खोखर के खानदानी सतीश मास्टर के साथ हुआ था। जिसमें संजय खोखर ने संजीव खोखर के विरूद्व वैधानिक कार्यवाही करवायी थी। तभी से संजीव खोखर अपमानित महसूस करता था तथा संजय खोखर से रंजिश रखता था। सागर वालियान ने संजीव खोखर को बताया कि मुझे भी अपने भाई की हत्या का बदला अपने मामा के लडके अखिल व उसके दोस्त बन्टी से लेना है। तब संजीव खोखर एवं श्रवण खोखर ने कहा कि पहले तुम मेरा ये काम करवा दो फिर बाद में तुम्हारा बदला भी साथ मिलकर ले लेगें। दिनांक 10.08.2020 को संजीव खोखर का भतीजा श्रवण खोखर कस्बा बडौत से अपने मकान छपरौली पर आया और वहां पर संजीव खोखर, श्रवण खोखर, सागर वालियान, सागर गोस्वामी, साहिल सलमानी ने मिलकर योजना बनायी कि कल सुबह मोर्निग वाक पर जाते समय संजय खोखर की हत्या कर देगें। दिनांक 11.08.2020 को सुबह 05ः00 बजे ही तीनो संजीव खोखर के साथ बनायी गयी योजना के अनुसार मुर्गी फार्म के पहले गन्ने के खेत में छुप गये एवं संजय खोखर के आने का इंतजार करते रहे। इनकी योजना इसी काली सडक पर संजय खोखर की हत्या करने की थी किन्तु सुबह 06ः00 व 06ः30 के बीच जब सडक पर लोगों का आवागमन शुरू हो गया तो इनको आशका हुई कि शायद संजय खोखर आज नही आयेगें तब ये खेत से निकलकर मुर्गी फार्म के बगल के चकरोड पर आगे भूमिया एवं टयूबवैल के पास आकर खडे हो गये। अचानक उस चकरोड पर संजय खोखर अपनी टयूबवैल की तरफ आते दिखाई दिये, सागर वालियान व सागर गोस्वामी दोनो भूमिया व टयूबवैल के पीछे छिप गये जब कि श्रवण खोखर चकरोड पर खडा रहा जैसे ही संजय खोखर नजदीक पहुंचे तीनो ने अपने-अपने पास रखे अवैध असलहे से से फायर किया तथा संजय खोखर की हत्या कर दी। एवं संजय खोखर के टयूबवैल की तरफ ही खेतों में भाग गये। 


 इस घटना के हर पहलू की गहनता व निष्पक्षता से जांच हेतु एक एसआईटी आईजी रेंज मेरठ महोदय के अनुमोदन से गठित कर दी गयी है। जिसमें क्षेत्राधिकारी बडौत, एसएचओ छपरौली व मेरठ जनपद के एक इस्पेक्टर रहेगें।


 


गिरफ्तार अभियुक्तों का नाम व पता


 


1-संजीव खोखर पुत्र सोहनपाल निवासी मौ0 पटटी धनधान कस्बा व थाना छपरौली जनपद बागपत।


2-श्रवण खोखर पुत्र रणधोल निवासी कस्बा व थाना बडौत जनपद बागपत।


 


फरार अभियुक्तों का नाम व पता


 


1-सागर वालियान पुत्र शौकेन्द्र निवासी दुल्हेरा थाना शाहपुर मुजफ्फरनगर हाल निवासी विशाल हाॅल के पास गुराना रोड कस्बा व थाना बडौत जनपद बागपत। (ईनाम 25 हजार रूपये)


2-सागर गोस्वामी पुत्र जसवीर निवासी पटटी भूवाला कस्बा व थाना छपरौली जनपद बागपत। (ईनाम 25 हजार रूपये)


3-साहिल सलमानी पुत्र अकबर निवासी कबीर मन्दिर वाली गली कस्बा व थाना छपरौली जनपद बागपत। (ईनाम 25 हजार रूपये)


 


बरामदगी का विवरण-


 


1-श्रवण खोखर के कब्जे से हत्या में प्रयुक्त आलाकत्ल एक तमंचा 315 बोर मय 02 जिंदा कारतूस।


 


अभियुक्त संजीव का आपराधिक इतिहास


 


1-मु0अ0सं0 461/2004 धारा 302, 120बी भादवि थाना छपरौली जनपद बागपत।