Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

राजीव गांधी किसान न्याय योजनान्तर्गत जिले में 9 हजार 889 किसानों को 10 करोड़ 48 लाख रूपए की दूसरी किश्त मिली


 


गोधन न्याय योजना के तहत् 590 हितग्राहियों के खाते में 2 लाख 10 हजार रूपए हस्तान्तरित 


7 हजार 920 तेन्दूपत्ता संग्राहकों को मिली 2 करोड़ 49 लाख 10 हजार रूपए तेन्दूपत्ता बोनस राशि 


बीजापुर/ 22 अगस्त 2020:- राजीव गांधी किसान न्याय योजनान्तर्गत राशि मिलने पर किसानों के चेहरे पर उल्लास और खुशी परिलक्षित हो रही थी। जब देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न स्वर्गीय राजीव गांधी की जयंती के अवसर पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने विडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से जिले के 9 हजार 889 किसानों के बैंक खातों में दूसरी किश्त की 10 करोड़ 47 लाख 98 हजार रूपए की राशि डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर के द्वारा जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के शाखाओं में हस्तान्तरित की। इस अवसर पर गोधन न्याय योजना के तहत् गोबर खरीदी की द्वितीय किश्त की 2 लाख 10 हजार रूपए की राशि 590 हितग्राहियों के खाते में हस्तान्तरित की गयी। वहीं तेन्दूपत्ता संग्रहण प्रोत्साहन पारिश्रमिक 2 करोड़ 49 लाख 10 हजार 563 रूपए की राशि 7 हजार 920 खाता धारक तेन्दूपत्ता संग्राहकों के खाते में जमा की गयी। जिले में कुल 46 हजार 91 तेन्दूपत्ता संग्राहकों को 14 करोड़ 17 लाख 31 हजार 392 रूपए तेन्दूपत्ता प्रोत्साहन पारिश्रमिक राशि का भुगतान किया जायेगा।


         बस्तर अंचल में हो रही बारिश के रिमझिम फुहारों के बीच किसानों की खुशी दुगुनी हुई जब उन्हे राजीव गांधी किसान न्याय योजना की राशि मिली। जिले के बीजापुर तहसील अंतर्गत नैमेड़ निवासी किसान समल कुड़ियम बताते हैं कि इस योजना से पहली किश्त की राशि 5 हजार 135 रूपए लाॅकडाउन के मुश्किल दौर में मिली थी, जिससे घर-परिवार की अत्यंत जरूरी काम को पूरा करने में मदद मिली। अब फिर दूसरी किश्त की 5 हजार 138 रूपए की राशि खेती-किसानी के दौरान प्राप्त हुई है, जिससे निंदाई-गुड़ाई कार्य सहित घरेलू जरूरत को पूरा करने में सहायक साबित होगी। उन्होने उक्त योजना से अभी ऐन वक्त में राशि प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल सहित राज्य सरकार को धन्यवाद दिया। इसी तरह जैतालूर निवासी किसान सीताराम मांझी ने बताया कि उन्होंने गत वर्ष 22 क्विंटल धान लेम्पस सोसायटी में विक्रय किया था, जिसकी 39 हजार 930 रूपए राशि सीधे बैंक खाते में जमा हुई थी। इसके बाद राज्य सरकार द्वारा 25 सौ रूपए समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन के तहत् राजीव गांधी किसान न्याय योजना से अंतर की शेष राशि प्रदान करने का निर्णय लिया। इस योजना से प्रथम किश्त की राशि 3 हजार 768 रूपए लाॅकडाउन के मुश्किल वक्त में सीधे बैंक खाते में जमा हुआ, तो घरेलू जरूरत को पूरा करने में मदद मिली। अब इस योजना की द्वितीय किश्त की राशि त्यौहारी सीजन में मिली है, तो परिवार के सदस्य खुश हैं। जिले के भैरमगढ़ तहसील अंतर्गत बरदेला निवासी किसान लच्छन नेताम और बीजापुर तहसील के कुएनार निवासी कृषक धनाजी नेताम ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना की दूसरी किश्त खेती-किसानी के वक्त देने के लिए राज्य सरकार के प्रति कृतज्ञता प्रकट किया।