Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

जीपीओ जा रहे भाकपा माले पार्टी के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बल प्रयोग कर सभी कार्यकर्ताओं को रोकने के बाद बस में भरकर इको गार्डन पहुंचाया

 


लखनऊ /आलमबाग: राजधानी के प्रवर्तन चौक पर तीन सूत्रीय मांगों समेत प्रदेश सरकार द्वारा गठित दमनकारी और अलोकतांत्रिक कानून यूपी एस एस एफ के खिलाफ व मज़दूरों की मांगों को लेकर भाकपा (माले) कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन कर गिरफ्तारी दी। पुलिस ने परिवर्तन चौक से गिरफ्तार कर सभी भाकपा (माले) कार्यकर्ताओं को आलमबाग स्थित इको गार्डन पहुंचा दिया। वहीं देर शाम तक भाकपा (माले) कार्यकर्ता ईको गार्डन में मौजूद रहे। 


 


भाकपा माले पार्टी के जिला प्रभारी रमेश सिंह सेंगर ने बताया कि आज गुरुवार को परिवर्तन चौक से जीपीओ तक मार्च करने का था लेकिन पुलिस ने बेहद ही बदतमीज़ी दिखाते हुए बैनर व प्लेकार्डस छीन लिए इस दौरान 


जीपीओ जा रहे भाकपा माले पार्टी के कार्यकर्ताओं को पुलिस ने बल प्रयोग कर सभी कार्यकर्ताओं को रोकने के बाद बस में भरकर इको गार्डन पहुंचा दिया। इस दौरान भाकपा माले के जिला प्रभारी रमेश सिंह सेंगर, इनौस के जिला संयोजक राजीव गुप्ता, ओम प्रकाश, आइसा के राज्य सचिव शिवा रजवार, आइसा से अतुल, शिवेंद्र, तुषार, एक्टू के कुमार मधुसूदन मगन, चन्द्रभान गुप्ता, रामसुंदर निषाद, रामजीवन राणा, बाबूराम कुशवाहा, विश्वकर्मा चौहान, मूलराज, रमेश प्रजापति समेत कई कार्यकताओं ने अपनी अपनी गिरफ्तारी दी। वहीं प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे भाकपा माले पार्टी के जिला प्रभारी रमेश सिंह का कहना था कि प्रदेश सरकार द्वारा गठित दमनकारी और अलोकतांत्रिक कानून लागू होने के बाद भी महिलाओं संग आएदिन छेड़छाड़ , हत्या, लूट जैसी घटनाओं पर प्रदेश सरकार नियंत्रण लगा नहीं पा रही है। जिसके चलते अपनी तीन सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदर्शन किया जा रहा है।