Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

सपाइयो ने प्रदेश सरकार के खिलाफ खोला मोर्चा, जिले के विभिन्न तहसीलो मे सपाइयो ने किया प्रदर्शन, भारी संख्या मे जुटे सपा कार्यकर्ता

 



 बहराइच। समाजवादी पार्टी लगातार प्रदेश सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल रही है। सोमवार को जिला मुख्यालय सहित विभिन्न तहसीलो मे सपाईयो ने जमकर प्रदर्शन किया और नारेबाजी की| बौडी संवाददाता के अनुसार- सोमवार को महसी विधानसभा के सपा नेताओं व कार्यकर्ताओं ने पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के दिशा-निर्देश पर उत्तर प्रदेश के किसानों,छात्रों, बेरोजगार नौजवानों, व्यापारियों व जनमानस के समक्ष उत्पन्न विभिन्न जन समस्याओं के निराकरण हेतु ज्ञापन सौंपा है। सोमवार को अखिलेश यादव के आह्वान पर समाजवादी पार्टी महसी विधानसभा के सैकड़ों कार्यकर्ताओं के द्वारा तहसील महसी के उपजिलाधिकारी के द्वारा प्रदेश के राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा गया। सैकड़ों की संख्या में समाजवादी कार्यकर्ताओं ने प्रदेश सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और प्रदेश सरकार के ऊपर उत्तर प्रदेश की जनता को छलने का आरोप लगाया। विधानसभा महसी के पूर्व प्रत्याशी डॉ.राजेश तिवारी ने कहा कि महसी विधानसभा के सैकड़ों कार्यकर्ताओं के द्वारा महामहिम राज्यपाल को आठ सूत्रीय ज्ञापन सौंपा गया है। जिसमें राज्यपाल के द्वारा संवैधानिक शक्तियों का प्रयोग करके उत्तर प्रदेश की सरकार को अविलंब बर्खास्त करने की बात कही। डॉ.तिवारी ने बताया कि मरीजों के साथ क्वारेंटाईन सेंटरों में मानवीय व्यवहार किया जाय। उन्हें गुणवत्ता पूर्ण भोजन व दवाइयां मुहैया कराई जाए। उन्होंने मेडिकल कॉलेज के निर्माण में हुए घोटाले का हवाला देते हुए उत्तर प्रदेश मेडिकल कारपोरेशन के ऊपर उपकरणों के खरीदफरोख्त में हुए घोटाले पर भी हमला बोला साथ ही साथ बाढ़ व कटान क्षेत्र में प्रभावित लोगों के पुनर्वास की व्यवस्था की जाने की बात कही।उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के चलते शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के छोटे व्यापारियों को विशेष आर्थिक पैकेज दिया जाए। जिला उपाध्यक्ष व विधानसभा महसी प्रभारी देवेश चंद्र मिश्र मंजनू ने बताया कि कोरोना सेंटरों में प्रभावी इलाज व देखरेख के अभाव में मरीजों की मृत्यु दर भी दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। अस्पतालों में ओपीडी के कारण गंभीर बीमारियों से पीड़ित इलाज के अभाव में दम तोड़ रहे हैं। उन्होंने ने कहा कि प्रदेश सरकार की किसानों की आय दोगुना करने का दावा झूठा साबित हो रहा है। किसानों का चीनी मिलों का करीब पौने तेरह हजार करोड़ रुपए बकाया है। यूरिया के अभाव में खरीफ की फसल चौपट हो गई है और किसानों को 280 रुपये प्रति बोरी से बढ़कर 400 से 500 रुपये प्रति बोरी यूरिया खरीदनी पड़ रही है। जिससे किसानों का शोषण हो रहा है। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष आसिफ खान पूर्व विधायक केके ओझा,जिला कार्यकारिणी सदस्य मनमोहन सिंह ,मुलायम यूथ ब्रिगेड के जिलाध्यक्ष अजितेश पांडेय, छात्रनेता विशाल तिवारी, मनीष दीक्षित, विकास तिवारी, राजन मिश्रा, अमित बाजपेयी,करूणापति मिश्र, नवनीत सिंह,शिवाजी सिंह, हर्षवर्धन पांडेय,उमाकांत त्रिपाठी ,रज्जाक अहमद,पप्पू अवस्थी, बबलू सिंह, तालुकदार चौहान समेत सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।


कैसरगंज संवाददाता के अनुसार-विधानसभा कैसरगंज में पूर्व विधायक राम तेज यादव के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देशानुसार विभिन्न मांगों को लेकर एक विशाल धरना प्रदर्शन तहसील मुख्यालय कैसरगंज के गेट पर किया। पूरी तरीके से समाजिक दूरी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किया गया। पूर्व विधायक राम तेज यादव ने कहा कोरोना की आड़ में पूरे उत्तर प्रदेश को लूटा जा रहा है। समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का उत्पीड़न हो रहा है अगर सपा के कार्यकर्ता का उत्पीड़न बन्द नहीं हुआ तो सडकों पर संघर्ष होगा और कहा कि कोरोना का कहर विकराल रूप धारण करता जा रहा है। भाजपा की राज्य सरकार इसकी रोकथाम में असफल साबित हुई है। कोरोना संक्रमण के शिकार लोगों को पर्याप्त स्वास्थ्य सुविधाएं तथा उपचार नहीं मिल पा रहा है। अस्पतालों में कोरोना से मौतें थम नहीं रही हैं। अनियोजित लाॅकडाउन के दौरान जो लाखों श्रमिक प्रदेश में अपने घर वापस आए,रोजगार के अभाव, आर्थिक तंगी, नौकरी न होने और कारोबार व्यापार बंदी से मजबूर होकर आत्महत्या कर रहे हैं। किसान, मजदूर, नौजवान, बुनकर, व्यापारी, छात्र, महिलाएं, अल्पसंख्यक सभी बदहाल हैं। लूट, हत्या, अपहरण की घटनाए बहुत बढ गयी है और फर्जी इनकाउंटर हो रहे है गन्ना किसानों का भुगतान नहीं हो रहा है।


तत्पश्चात निम्नलिखित बिन्दुओं पर, केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए किसान विरोधी बिल, कोरोना काल में अव्यवस्थित स्वास्थ्य व्यवस्था और भ्रष्टाचार, बेरोजगारी,ध्वस्त कानून व्यवस्था, निजीकरण,द्वेष की राजनीति और बदले की भावना से समाजवादी नेताओं पर अत्याचार जैसे विषय पर महामहिम राज्यपाल महोदय उत्तर प्रदेश को सम्बोधित ज्ञापन उपजिलाधिकारी कैसरगंज को दिया गया। इस अवसर पर पूर्व जिलाध्यक्ष लक्ष्मी नारायन यादव, सदस्य जिला पंचायत प्रतिनिधि अवधेश वर्मा, प्रदीप यादव प्रमुख प्रतिनिधि कैसरगंज, मनीष यादव एडवोकेट, फरीद अहमद अंसारी, लाल विक्रम,ब्लॉक अध्यक्ष गण मौलाना शकील नदवी,सतीश पाण्डेय, मनोज यादव मो.अतीक,सैय्यद सैफ,रमेश यादव,मुलायम यादव,राकेश राव प्रधान आदि क्षेत्र के नेता कार्यकर्ता मौजूद रहे।


नानपारा संवाददाता के अनुसार- आज नानपारा में तहसील के पास सपाइयों ने जोरदार नारेबाजी के साथ एक दिवसीय धरना प्रदर्शन के दौरान केंद्र व प्रदेश सरकार की जनविरोधी नीति के खिलाफ बिगुल फूंक सपा संगठन को नई जान देने का काम किया। मटेरा व नानपारा सहित बलहा विधानसभा के लगभग एक सैकड़ा लोगो ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिला उपाध्यक्ष राजेश चौधरी के नेतृत्व में मजिस्ट्रेट मनीष कुमार वर्मा को सौंपा।इस दौरान सुरक्षा का जिम्मा अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण अशोक कुमार व सीओ जंग बहादुर यादव ने कोतवाली पुलिस के साथ संभाल रखा था। धरना में मुख्य रूप से कर्म राज वर्मा,जवाहर यादव,अयोध्या प्रसाद सोनी,मनीष मिश्रा,गुड्डू निषाद,नशिबुन्निशा,सहिस्ता प्रवीण,सुरेन्द्र गुप्ता,मुन्ना राइनी,सादिक हुसैन,शबिउल हसन हाशमी व सईद अहमद सहित तमाम सपाई मौजूद रहे। 


महिला जिलाध्यक्ष ने लगाया आरोप 


जिला अध्यक्ष महिला सपा नसिबुन्ननिशा ने आरोप लगाया कि पुलिस प्रशासन ने उन्हें नवाबगंज मोड़ के पास लगभग एक दर्जन महिलाओं के साथ जाने नहीं दिया उन्हें धरना स्थल से पहले जबरदस्ती रोक दिया गया।