Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

अपनी बदहाली पर रो रहा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, लोकतंत्र रक्षक सेनानी ने एसडीएम को सौंपा ज्ञापन

बलरामपुर। विकासखंड उतरौला अंतर्गत ग्राम सुरैया देवर महुआ धनी में तीन वर्ष पूर्व बना प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र अपने बदहाली पर आंसू बहा रहा है। विभागीय उदासीनता के कारण केंद्र आज तक संचालित नहीं हो सका। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के खिड़की ,शीशे ,दरवाजे सहित लाखों रुपए के सामग्री गायब हो गए। चिकित्सीय सेवाओं के लिए लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों के चिकित्सा सेवा के लिए बनाए गया स्वास्थ्य केंद्र बीमार है और सेवाएं यहां ठप हैं। सरकार बेहतर स्वास्थ्य सेवा दिलाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है। कई योजनाएं ग्रामीण अंचल में चलाई जा रही हैं। गांवों में प्राथमिक व उप केंद्रों की स्थापना इस मकसद से कराई गई थी कि लोगों को प्राथमिक उपचार मिल सके, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों में कई ऐसे उपकेंद्र हैं,जो सरकारी सिस्टम की लापरवाही की वजह से अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहे हैं। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सुरैयादेवर महुआधनी पिछले तीन सालों से बदहाली का शिकार है। स्वास्थ्य केंद्र परिसर में उपले, गंदगी नजर आती है।


स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते यहां के लोगों को सस्ती सुलभ स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। स्वास्थ्य विभाग को ऐसे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों की ओर ध्यान देना होगा, जिससे लोग चिकित्सा सेवा का लाभ उठा सकें। इस संबंध में लोकतंत्र रक्षक सेनानी चौधरी इरशाद अहमद गद्दी ने स्वास्थ्य मंत्री को संबोधित ज्ञापन उप जिलाधिकारी उतरौला अरुण कुमार गौड़ को सौंप कर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में चिकित्सकों की तैनाती कर केंद्र को संचालित करते हुए लोगों को चिकित्सा सुविधा का लाभ दिलाए जाने की मांग करने के साथ ही बंद व बदहाल पड़े प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के जिम्मेदार चिकित्सा अधीक्षक व अपर स्वास्थ्य निदेशक देवीपाटन मंडल के विरुद्ध मुकदमा पंजीकृत किए जाने की मांग की है।