Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

गैंगरेप के आरोपी ने जब उपचुनाव के लिए भरा पर्चा,तो......... ?


गिरफ्तारी को पहुंची पुलिस टीम को गच्चा देकर भाग निकला राजेंद्र धमाका


पुलिस की मौजूदगी में कलेक्ट्रेट पहुंचकर धमाका ने भरा पर्चा


ब्यूरो कार्यालय (कानपुर):गैंगरेप का मुख्य आरोपी राजेंद्र धमाका भारी पुलिस बल की मौजूदगी में सभी को गच्चा देकर नामांकन पत्र दाखिल कर भाग निकला। राजेंद्र धमाका अपने प्रस्तावकों के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचा था। ठसक के साथ उसने एसीएम-2 के सम्मुख मौजूद होकर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इसके बाद वह समर्थकों के साथ कलेक्ट्रेट से बाहर निकला। इससे पहले कि पुलिस की टीमें उसे गिरफ्तार करतीं, वो समर्थकों के साथ सभी को गच्चा देकर भाग निकला।


घाटमपुर के गिरसी गांव निवासी अधिवक्ता राजेंद्र धमाका के खिलाफ युवती ने घर में बंधक बनाकर सामूहिक दुष्कर्म का आरोप लगाया था। घाटमपुर कोतवाली पुलिस ने राजेंद्र धमाका के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कई बार दबिश दी लेकिन वह नहीं मिला। पुलिस ने उसके गांव में भी दबिश दी लेकिन धमाका नहीं मिला।


घाटमपुर विधानसभा सीट पर उपचुनाव की घोषणा के बाद राष्ट्रीय जनउत्थान पार्टी ने राजेंद्र धमाका को प्रत्याशी घोषित किया है। इस जानकारी के बाद से पुलिस सक्रिय हो गई थी कि आरोपित प्रचार के लिए जरूर निकलेगा या फिर नामांकन दाखिल कराने जाते समय उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा। लेकिन, ऐसा नहीं हो सका और पुलिस मुस्तैदी की पोल खुल गई


राजेंद्र ने बीते बुधवार को अपने एक विश्वस्त के मार्फत नामांकन पत्र मंगवाया था। इसके बाद नाम वापासी से ठीक एक दिन पहले वह पुलिस की नजरों से बचकर कलेक्ट्रेट पहुंच गया और प्रस्तावकों के साथ कलेक्ट्रेट में एसीएम-2 के न्यायालय में रिटर्निग अफसर के सामने पेश होकर नामांकन पत्र दाखिल किया।


रिटर्निंग अफसर एके श्रीवास्तव ने बताया कि उन्होने धमाका का चेहरा खुलवा कर पहचान की थी। इसके बाद धमाका कलेक्ट्रेट से निकल गया। सीओ रवि कुमार सिंह ने बताया कि धमाका की गिरफ्तारी के लिए कलेक्ट्रेट में पुलिस बल तैनात किया गया था। लेकिन वकीलों के बीच होने की वजह से उसे पहचाना नहीं जा सका।