Ticker

6/recent/ticker-posts

Advertisement

Responsive Advertisement

दबंगाई पर उतारू पुलिस ने रामलीला मंचन को रोका,ग्रामीणों में आक्रोश प्रदर्शन कर पुलिस पर दादागिरी करने का लगाया आरोप


दबंगाई पर उतारू पुलिस ने रामलीला मंचन को रोका,ग्रामीणों में आक्रोश


प्रदर्शन कर पुलिस पर दादागिरी करने का लगाया आरोप


एसडीएम के दखल के बाद भी पुलिस का दबदबा


बहराइच। दबंगाई पर उतारू पुलिस ने रामलीला कमेटी को अनुमति का हवाला देते हुए दो दिन नाटक का मंचन होने बाद पुलिस ने रुकवा दिया।दर्शकों को माइक से घर जाने की धमकी दी, बलप्रयोग का खौफ दिखाकर घरों को भगा दिया। पुलिस के इस कृत्य से नागरिकों में खासा आक्रोश है। कमेटी अध्यक्ष ने उप जिलाधिकारी से रामलीला का मंचन कराने के लिए अनुमति मांगी और उप जिलाधिकारी ने खैरीघाट पुलिस से रिपोर्ट तलब करने की बात कही।कमेटी कार्यकर्ताओं ने थाना प्रभारी से रिपोर्ट लगाने की अपील की।लेकिन खाकी के लिवाज में बैठे सरकारी मुलाजिम बाबू ने सीधे मुंह बात करना मुनासिब नहीं समझा।उल्टे पांव धौंस दिखाते हुए थाने से बाहर कर दिया।जिसका ग्रामीणों ने विरोध करते हुए प्रदर्शन किया और कहा कि खाकी वर्दी धारी साहब ने रामलीला मंचन पर रोक नहीं लगाई है।बल्कि धार्मिक भावनाओं को आहत किया है।इस प्रकार की पुलिस की दादागिरी आवाम में आक्रोश उत्पन्न कर रही है।उल्लेखनीय हैं कि थाना खैरीघाट की पुलिस चौकी बैवाही के दुद्धाधारी में रामलीला का मंचन बीते 6 नवंबर से 12 नवंबर तक होना था।6और 7 नवम्बर को रामलीला का मंचन हुआ।आरोप है कि 8 नवम्बर को खैरीघाट थाना प्रभारी विमलेश सिंह पुलिस फोर्स के साथ कार्यक्रम स्थल पहुंचे और खाकी का धौंस दिखाते हुए रामलीला मंचन को बन्द करा दिया।


प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, जब दर्शकों ने पुलिस से ऐसा करने का कारण पूछा, तो पुलिस ने बलप्रयोग करने और चालान करने की धमकी देते दे डाली। खाकी का यह रुप देखकर मैदान में उपस्थित महिलाएं और पुरूष को निराश होकर घरों में दुबकना पड़ा । सुबह पुलिस करतूत की जानकारी से गांव के नागरिकों में रोष फैल गया। रामलीला कमेटी अध्यक्ष राधेश्याम गुप्ता ने रोष प्रकट करते हुये पुलिस ज्यादती की शिकायत उप जिलाधिकारी से करते हुये रामलीला मंचन कराने की मांग की है ।विरोध प्रदर्शन के दौरान कमेटी उपाध्यक्ष - महेंद्र तिवारी, स्वामी दयाल गुप्ता , नसरत अली , कैलाश मौर्या, सुन्दर लाल दुर्वेदी, तीरथ यादव , सूरज तिवारी , राम खेलावन पासवान ,


सोगरा देवी , प्रेमा देवी , शीतला देवी , राधा देवी ,गंगा राम पोरवाल, बरसाती , राम खेलावन निषाद , मूटरु यादव , अमरिका गौतम , शब्बीर अहमद ,राम तेज यादव , हरद्वारी गुप्ता , राम प्रसाद , राजा राम , अखिलेश गुप्ता , चन्दन पोरवाल, बाल किशन गुप्ता बाराती मौर्या , कैलाश मौर्या , बेचन मौर्या , सुन्दर यादव लोटन पासवान , राजा राम गौतम, विश्व प्रकाश पाठक , राधेश्याम पाठक , मोह नारायन पाठक, राजू सोनी सहित कई लोग मौजूद रहे।